Breaking News
  • आज होगा योगी सरकार के कैबिनेट का विस्तार, नए चेहरों को मिल सकती है जगह
  • G7 शिखर सम्मेलन में अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने की पीएम मोदी से कश्मीर मुद्दे पर वार्ता की पेशकश
  • MP के पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर का निधन, राज्य में तीन दिवसीय शोक की घोषणा की
  • INX मीडिया मामले में चिदंबरम पर लटकी गिरफ्तारी की तलवार, कुछ देर में SC में सुनवाई

योगी सरकार ने पेश किया अब तक का सबसे बड़ा बजट, जानिए कैसे खर्च होंगे 4.79 लाख करोड़

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की योगी सरकार के वित्त मंत्री राजेश अग्रवाल ने गुरुवार को विधानसभा में वित्त वर्ष 2019-20 के लिए 4.79 लाख करोड़ का बजट पेश किया है, जो पिछले बजट के मुकाबले 12 प्रतिशत अधिक है। प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस बजट को यूपी के इतिहास का सबसे बड़ बजट है।

बजट पेश होने के बाद मुख्यमंत्री ने यहां तिलक हाल में प्रेस वार्ता भी संबोधित किया है। यहां पत्रकारों को संबोधित करते हुए सीएम ने कहा कि, सबका साथ, सबका विकास की भावना को चरितार्थ करने वाला बजट आज वित्त मंत्री जी ने पेश किया। मैं इसके लिए वित्त मंत्री जी और सभी अधिकारियों को विकासोन्मुखी बजट पेश करने के लिए धन्यवाद देता हूं।

10 फरवरी को होगी ‘ऐतिहासिक शादी’, दूल्हा-दुल्हन दोनों IAS लेकिन शादी पर खर्च करेंगे सिर्फ 36 हजार

उन्होंने कहा कि, यह बजट उत्तर प्रदेश के इतिहास का सबसे बड़ा बजट है। आदरणीय प्रधानमंत्री जी के सबका-साथ, सबका-विकास की भावना को चरितार्थ करने वाला बजट है। प्रदेश में प्रत्येक नागरिक, प्रत्येक व्यक्ति के चेहरे पर खुशहाली लाने, गांव, गरीब, किसान, नौजवान, महिलायें, व्यापारी और समाज के प्रत्येक तबके के उत्थान करने और उनके जीवन में व्यापक परिवर्तन करने में ये बजट सफल होगा।

मुख्यमंत्री की मुख्य बातें

  • ये वही प्रदेश है जहाँ केवल 5 जनपदों में बिजली मिलती थी। आज हमारी सरकार ने प्रदेश के 75 जनपदों में बिजली पहुंचाने का कार्य किया है। प्रदेश के अंदर अच्छी सड़कें हों, गाँवों से जुड़ी सड़कें हों, इसके लिए पीडब्ल्यूडी के बजट में वृद्धि की गयी है।
  • किसानों की आय में वृद्धि हो इसके लिए एमएसपी से अधिक दाम देना, हमने बजट में भी इसका प्रावधान फिर से किया है।
  • पुलिस के आधुनिकीकरण और पुलिस की अवस्थापना पर व्यापक कार्य हो, इसके लिए पहली बार उत्तर प्रदेश बजट में बजट का प्रावधान किया है।
  • इस समय प्रदेश के अंदर 15 नए मेडिकल कॉलेज बन रहे हैं। 2 एम्स पर कार्य चल रहा है। 5 नए मेडिकल कॉलेज जिनमें नए सत्र शुरू होंगे, उनके लिए बजट में धनराशि की व्यवस्था की गयी है।
  • पिछड़ी जाति और सामान्य जाति के छात्रों को भी शुल्क प्रतिपूर्ति के कार्यक्रम के साथ जोड़ा है।
  • दिव्यांगजन की पेंशन को 300 से बढ़ाकर 500 रुपये किया। इसके बाद भी 38 हजार दिव्यांगजन छूटे हुए थे, जिनको इस योजना का लाभ नहीं मिल पा रहा था। हमने  उनको भी इस योजना से लाभान्वित करने का काम किया है।
  • प्रदेश के अंदर तीन नए विश्वविद्यालय बनाने जा रहे हैं। स्वर्गीय अटल बिहारी के नाम पर लखनऊ में एक चिकित्सा विश्वविद्यालय, दूसरा प्रदेश के अंदर एक आयुष विश्वविद्यालय, तीसरा सहारनपुर में एक विश्वाविद्यालय का प्रावधान इस बजट में किया है।
  • बलरामपुर में केजीएमयू का एक सैटेलाइट सेंटर बनाने की व्यवस्था बजट में की है। बलरामपुर स्वर्गीय अटल जी की प्रथम कर्मभूमि रहा है।
  • कानपुर और आगरा में मेट्रो रेल परियोजना के लिए बजट में प्रावधान किया है। जेवर में एक नया एयरपोर्ट, जो देश का सबसे बड़ा एयरपोर्ट होगा, इसके लिए धनराशि की व्यवस्था बजट में की गयी है। अयोध्या में एक नया एयरपोर्ट बने,  इसके लिए धनराशि की व्यवस्था बजट में की गयी है।
  • दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य बीमा की योजना, जिसे मोदी केयर के रूप में दुनिया जानती है, आयुष्मान भारत लागू हुई है। प्रदेश ने इसमें बहुत अच्छी प्रगति की है।
  • इस बजट के माध्यम से कन्याओं के लिए एक विशेष योजना लेकर आये हैं, कन्या सुमंगला योजना। इसके लिए 1200 करोड़ रुपये की बजट में व्यवस्था की है।
  • प्लाटिक को बैन करने के बाद प्रदेश के अंदर माटी कला बोर्ड के गठन और उसको आगे बढ़ाने के लिए इस बजट में व्यवस्था की है।
  • प्रदेश के अंदर पर्यटन की अपार संभावनाओं को आगे बढ़ाने के लिए विस्तृत कार्ययोजना तैयार की है और बजट में व्यापक प्रावधान किये हैं।
  • आयुष्मान भारत में एक करोड़ 18 लाख परिवार सीधे-सीधे 6 करोड़ लोग इस योजना से लाभान्वित होने जा रहे हैं। लेकिन प्रदेश के अंदर  56 लाख ऐसे लोग थे जो इस योजना से लाभान्वित नहीं हो पा रहे थे, उनके लिए भी बजट में 111 करोड़ की व्यवस्था की है।
  • प्रदेश के अंदर बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे और डिफेंस कॉरिडोर को भी हमने इस बजट में इसकी व्यवस्था के साथ जोड़ा है।
  • आंगनबाड़ी, आशा वर्कर्स, ग्राम प्रहरी, प्रांतीय रक्षक दल, मिड-डे मील के अंदर जो रसोइयां हैं  इन सबके मानदेय को बढ़ाने के लिए अतिरिक्त धनराशि की व्यवस्था बजट में की है।
  • प्रदेश के अंदर अन्य तमाम योजनाएं जो प्रदेश के विकास से जुड़ी हैं, उनको इस बजट में देने का प्रयास किया गया है।

हर सफल मर्द के पतन के पीछे महिला है, लेकिन मेरी पत्नी ‘देवी’

क्या भारतीय टीम को पाकिस्तान भेजेगी भारत सरकार? 

loading...