Breaking News
  • कश्मीर घाटी, लद्दाख में कड़ाके की शीतलहर जारी
  • पेट्रोल-डीजल के दाम में बढ़ोतरी, कच्चे तेल में नरमी
  • लोकसभा में सत्ता पक्ष, विपक्ष का हंगामा
  • पर्थ टेस्ट : 146 रन से हारा भारत, आस्ट्रेलिया ने की सीरीज में 1-1 से बराबरी
  • चक्रवाती तूफान Pethai Cyclone आज आंध्र प्रदेश के तट से टकराएगा

सुषमा के बाद अब उमा ने बढ़ाई भाजपा की टेंशन!

नई दिल्ली: साल 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव से पहले सत्ताधारी बीजेपी के लिए एकजुट विपक्ष बड़ी चिंता की तरह दिख रहा है। वहीं पार्टी के दिग्गद नेता भी ऐसे-ऐसे फैसले ले रहे जो बीजेपी के लिए चुनाव में बड़ी संकट भी साबित हो सकती है। दरअसल, पिछले दिनों मोदी सरकार में विदेश मंत्री और दिग्गज बीजेपी नेता सुषमा स्वराज नें मीडिया से कहा कि वह साल 2019 का चुनाव नहीं लड़ेंगी।

वहीं अब खबर है कि बीजेपी की एक और दिग्गज नेता उमा भारती भी साल 2019 का लोकसभा चुनाव नहीं लड़ेंगी। उमा के चुनाव नहीं लड़ने का दावा एक बीजेपी नेता के हवाले से किया गया है। वहीं इस सवाल पर उमा भारती ने कहा कि इसपर अंतिम फैसाल पार्टी करेगी। उमा भारती के चुनाव नहीं लड़ने को लेकर खबर है कि अब वह अपना पूरा ध्यान अयोध्या में राम मंदिर निर्माण और गंगा सफाई कार्य में लगाना चाहती हैं।

बुलंदशहर हिंसा: शहीद इंस्पेक्टर की पत्नी और बहन ने किया हैरान कर देने वाला खुलासा!

साथ ही उमा भारती ने सोशल मीडिया पर ट्वीट करते हुए बताया कि, “राम मंदिर पर हमारी आस्था एक स्थापित तथ्य है तथा हम राम मंदिर के नाम से कोई नफा-नुकसान नहीं सोचते। हमने अयोध्या आंदोलन के बाद भी 1993 का विधानसभा का चुनाव हारने के बाद भी 1998 के इलेक्शन मेनीफेस्टो में राम मंदिर निर्माण को रखा था, क्योंकि हम राम को चुनाव की हार-जीत की नजर से नहीं देखते हैं, राम हमारी आस्था के केन्द्र बिन्दु हैं। राम मंदिर का समाधान अब आंदोलन से नहीं बल्कि बातचीत से होगा”।

महाराष्ट्र सरकार ने साईं से लिए 500 करोड़, राज्य में बवाल!

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि, “अध्यादेश भी यदि लाना है तो कांग्रेस पार्टी को हमारा साथ देना होगा। देश के लिए अपनी जिम्मेवारी निभानी होगी क्योंकि राम मंदिर को लेकर कांग्रेस ने ही माहौल खराब किया है”। बता दें कि राम मंदिर का मसला पिछले काफी सालों से कोर्ट-कचहरी की चक्कर काट रहा है। वहीं कोर्ट के बाहर इस मसने पर लगातार बयानबाजी होती है। इस बीच हाल के दिनों में राम मंदिर के लिए अध्याश लाने को लेकर भी सरकार पर लगातार दबाव बनाया जा रहा है।

गोहत्या के शक में जंग का मैदान बना बुलंदशहर, पुलिस इंस्‍पेक्‍टर की हत्या! 

loading...