Breaking News
  • भारत ने UNSC में कहा- पाकिस्तान में आंतकी ठिकानों को नष्ट करने पर हमारा फोकस
  • भारत ने युद्ध विराम के उल्लंघन पर पाकिस्तान के उप उच्चायुक्त को तलब किया
  • अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने एफआईएसए संशोधन पुनः अधिकार अधिनियम पर हस्ताक्षर किया
  • जम्मू-कश्मीर के आर एस पुरा और Arniya सेक्टर में गोलीबारी
  • गुजरात की पूर्व मुख्यमंत्री आनंदीबेन पटेल मध्य प्रदेश की राज्यपाल होंगी

अब चीन से निपटेगा भारत का यह जेम्स बॉण्ड!

नई दिल्ली: भारत के जेम्स बॉण्ड कहे जाने वाले राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल को सिक्किम सीमा विवाद को सुलझाने की जिम्मेदारी सौंपी गयी है। अब अजित डोभाल पूरे मामले पर नजर बनाकर इस विवाद को सुलझाएंगे। शुक्रवार को केन्द्रीय मंत्रियों के साथ बैठक में यह जिम्मेदारी उन्हें दी गयी है।

सिक्किम में भारत चीन के बीच जारी गतिरोध को देखते हुए इससे निपटने के लिए भारत के जेम्स बॉण्ड अजित डोभाल को यह जिम्मेदारी दी गयी है। शुक्रवार को वरिष्ठ केंद्रीय मंत्रियों ने कश्मीर के हालात व चीन सीमा पर जारी गतिरोध के मुद्दे पर विपक्षी दलों के साथ बैठक से पहले राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल से मुलाकात की। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, गृहमंत्री राजनाथ सिंह, रक्षा मंत्री अरुण जेटली व भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अध्यक्ष अमित शाह भी बैठक में मौजूद थे।

राजनाथ सिंह के घर हुई बैठक में अहम फैसला लिया गया। सूत्रों के हवाले से खबर है कि भारत डोकलाम विवाद को सुलझाने का जिम्मा राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल को सौंपा गया है। खास बात ये है कि सरकार ने डोकलाम पर पीछे न हटने का फैसला आज शाम होने वाली सर्वदलीय बैठक से पहले लिया है।जिसके बाद इस मामले में अजित डोभाल को उतारा गया है। ऐसे में भारत द्वारा यह कदम उठाए जाने के बाद साफ़ हो गया है कि भारत ने इसबार ठान ली है कि वह किसी भी हाल में पीछे नहीं हटेगा। वहीँ पूरे मामले पर अजित डोभाल को उतारे जाने का साफ़ सीधा संकेत है कि भारत इस बार आर-पार की लड़ाई करने के मूड में है।

मालूम हो कि भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल को जेम्स बॉण्ड के नाम भी जाना जाता है उसके पीछे की कहानी है कि जेम्स बांड यानी अजित डोभाल सात साल तक पाकिस्तान में भारत के खुफिया एजेंट बन कर रहे हैं और इसकी किसी को कानों कान तक खबर नहीं लगी।  

loading...