Breaking News
  • बैंक खातों को आधार से जोड़ना अनिवार्य: आरबीआई
  • कट्टरता के खिलाफ भारत मजबूत कार्रवाई कर रहा है: सेना प्रमुख बिपिन रावत
  • कुपवाड़ा में आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़
  • विदेश मंत्री सुषमा स्वराज आज से बांग्लादेश के दो दिवसीय दौरे पर होंगी रवाना

अमरनाथ यात्रियों पर हमले में बड़ा खुलासा- आतंकियों ने जारी किया....

नई दिल्ली: अमरनाथ यात्रियों पर सोमवार रात हुए आतंकी हमले को लेकर कई तरह के खबरे आ रही है। हमले को लेकर जम्मू-कश्मीर पुलिस के महानिरीक्षक मुनीर खान के हवाले से बताया जा रहा है कि इस हमले में आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा का हाथ है और इस घटना का मास्टरमाइंड आतंकी इस्माइल है।

हालांकि हमले के बाद आतंकी संगठन लश्कर-ए-तयैबा ने बयान जारी करते हुए यात्रियों पर हुए हमले की निंदा भी की है। इसके कुछ देर बाद आतंकवादी संगठनों के समूह यूनाइटेड जेहाद काउंसिल ने भी इस हमले को गलत करार दिया है।

जिसके बाद से अब ऐसी खबरे आ रही है कि अमरनाथ यात्रियों पर हमला आतंकियों के बीच फूट का नतीजा है। ऐसा हन बल्कि आतंकी संगठनों की ओर से आ रहे इस तरह के बयान से इसका अंदाजा लगाया जा सकता है। आतंकी संगठनों की ओर से जारी बयानों को विस्तार से समझने पर इस बात का पता चलता है कि फील्ड में काम कर रहे आतंकियों पर उनके आला कमांडरों का कंट्रोल अब खत्म होता जा रहा है।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार मौजूदा समय में घाटी में लश्कर का कमांडर अबु दुजाना है, जिसकी रणनीति है कि आतंकी सिर्फ सेना को ही नुकसान पहुंचाएंगे, लेकिन हाल में हुए इन आतंकी हमलों से पता चलता है कि फिल्ड में काम करने वाले आतंकी अपने आला कमांडरों की रणनीतियों को ताक पर रख कर अपनी रणनीति खूद ही तय कर रहे हैं।

इससे पहले खबर थी कि इस हमले में आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा का हाथ है, और इस घटना का मास्टरमाइंड पाकिस्तानी आतंकी इस्माइल है। बता दें कि लश्कर-ए-तैयबा का सरगना आतंकी हाफिज सईद है, जिसपर भारत में कई हमले कराने का आरोप पहले लग चुका है।

यात्रियों पर हुए आतंकी हमले को लेकर जम्मू-कश्मीर पुलिस के महानिरीक्षक मुनीर खान के हवाले से बताया जा रहा है कि इस हमले के पीछे का मास्टरमाइंड पाकिस्तानी आतंकी इस्माइल है। आपको बता दें कि 2001 में भारतीय संसद के साथ-साथ 2008 में मुंबई हमलों के पीछे भी लश्कर आतंकियों का ही हाथ था।

गौर हो कि आतंकी संगठन लश्कर को भारत, अमेरिका, ब्रिटेन, यूरोपीय यूनियन, रूस समेत अन्य कई देशों ने प्रतिबंधित संगठन करार दे दिया है, लेकिन इसके बाद भी लश्कर सरगना हाफिज सईद का आतंक का धंधा पाकिस्तान सरकार के इशारे पर फल-फूल रहा है, और भारत इसका लगातार शिकार होता रहा है।

खबरों के अनुसार लश्कर पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई के संरक्षण में काम करता रहा है। लेकिन मौजूदा समय में अंतरराष्ट्रीय दबाव के कारण पाकिस्तान ने लश्कर को बैन किया है। जिसके बाद से आतंकी हाफिज सईद ने जमात-उद-दावा नाम से इसे ऑपरेट कर रहा है। ऐसी कई खबरें आ चुकी है जिसमें दावा किया गया है कि जमात-उद-दावा आतंकी संगठन लश्कर को फंडिग करता है।

loading...