Breaking News
  • बैंक खातों को आधार से जोड़ना अनिवार्य: आरबीआई
  • कट्टरता के खिलाफ भारत मजबूत कार्रवाई कर रहा है: सेना प्रमुख बिपिन रावत
  • कुपवाड़ा में आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़
  • विदेश मंत्री सुषमा स्वराज आज से बांग्लादेश के दो दिवसीय दौरे पर होंगी रवाना

आज सुप्रीम कोर्ट तय करेगा रोहिंग्या शरणार्थियों की किस्मत?

नई दिल्ली: देश में रोहिंग्या मुस्लिमों को रहना है या नहीं इस पर सुप्रीम कोर्ट आज शुक्रवार को फैसला सुनाएगा। मालूम हो कि केंद्र सरकार ने रोहिंग्या मुसलमानों को भारत से वापस भेजने का फैसला लिया। जिस पर रोहिंग्या शरणार्थियों ने उच्चतम न्यायलय में अपील की थी।   

बतादें कि देशभर में रोहिंग्या का मुद्दा गंभीर समस्या बना हुआ है। ऐसे में आज सुप्रीम कोर्ट रोहिंग्या मुसलमानों पर फैसला सुनाने जा रहा है। केंद्र सरकार ने रोहिंग्या को देश से बाहर भेजे जाने के मामले को न्यायपालिका के क्षेत्राधिकार से बाहर बताते हुए इसे कार्यपालिका पर छोड़ देने की अपील की है।

‘भारत का सबसे बड़ा सेक्स और रिश्वत कांड’

वहीं कोर्ट साफ कर चुका है कि वह इस मामले में केवल कानूनी पहलुओं पर विचार करेगा, क्योंकि मामला मानवीय संकट से जुडा है। सुप्रीम कोर्ट इस बात को दरकिनार कर रहा है कि रोहिंग्या मुसलमान देश के लिया खतरा भी हो सकते हैं। मानवीय संकटों ने आधार पर सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में दखल दिया। रोहिंग्या मुस्लिमों पर 51 बुद्धिजीवियों ने पीएम मोदी को खुला पत्र लिखकर म्यांमार में जारी हिंसा के बीच रोहिंग्या शरणार्थियों को वापस नहीं भेजे जाने की अपील की थी।

LOC पर पाकिस्तानियों की नापाक करकत- भारतीय सेना दे रही है करारा जवाब

वहीँ सरकार लगातार इस मामले पर कह रही है कि रोहिंग्या देश के लिए बड़ा ख़तरा साबित हो सकते हैं। जांच और खुफिया एजेंसी यहाँ तक कह रही है कि रोहिंग्या मुसलामानों का आतंकी गुटों से ताल्लुक है। ऐसे में रोहिंग्या मुसलमान भारत के लिए बारूद के ढेर के समान हैं।  

यह भी देखें-

loading...