Breaking News
  • मंदी से निपटने के लिए सरकार ने किए बड़े ऐलान, ऑटो सेक्टर को होगा उत्थान
  • तीन देशों की यात्रा के दूसरे चरण में यूएई की राजधानी आबू धाबी पहुंचे मोदी
  • देश भर में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी की धूम, राष्ट्रपति कोविंद और पीएम मोदी ने दी शुभकामनाएं
  • 1st Test Day-2: भारत की पहली पारी 297 रनों पर सिमटी, रवींद्र जडेजा ने बनाए 58 रन

अभी-अभी: बंगाल में मोदी की रैली पर धावा बोल सकती है ममता, SPG ने जारी किया अलर्ट

नई दिल्ली: अंतिम चरण के चुनाव से पहले मंगलवार को कोलकाता में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के रोड शो में भड़की हिंसा पर जारी बवाल अभी थामा भी नहीं है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा को लेकर एसपीजी ने अलर्ट जारी किया है। दरअसल, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुरुवार को बंगाल में चुनावी सभा करने वाले हैं, लेकिन इससे पहले पीएम की सुरक्षा में तैनात स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप अलर्ट जारी कर बंगाल पुलिस को सूचित किया है कि प्रधानमंत्री की चुनावी रैली पर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी धावा बोल सकती हैं।

दरअसल, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुरुवार को बंगाल के मथुरापुर और दमदम में चुनावी सभा को संबोधित करने वाले हैं। इससे पहले एसपीजी के इन्स्पेक्टर जनरल ने पीएम की सुरक्षा पर आशंका जाहिर करते हुए बंगाल पुलिस के डीजीपी को खत लिखा है। जिसमें पीएम की रैलियों में हिंसा की आशंका जाहिर करते हुए आपातकालीन स्थिति पैदा होने की संभावना जताई है।

बता दें कि गुरुवार को मथुरापुर में पीएम मोदी की रैली से पहले ममता बनर्जी की चुनावी सभा है। जिस जगह पर ममता की रैली होने वाली है उसके पास ही पीएम की सभा होनी है। लिहाजा एसपीजी कोई चांस नहीं लेना चाहती। इसलिए एसपीजी की ओर से पश्चिम बंगाल डीजीपी को कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के निर्देश दिए गए हैं।

गौरतलब हो कि मंगलवार को बीजेपी अध्यक्ष के रोड शों में कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बाद भी बीजेपी और टीएमसी समर्थकों में टकराव हुई। वहीं शाह का आरोप है कि टीएसी कार्यकर्ताओं ने ममता के आदेश पर उनकी जान लेने की कोशिश की, अगर उनकी सुरक्षा में सीआरपीएफ नहीं होती तो उनका बच निकलना भी मुश्किल था। इन्हीं बातों को ध्यान में रखते हुए पीएम की सभा की सुरक्षा भी सवालों के घेरे में दिख रही है। जबकि इधर पीएम ने भी अपनी सुरक्षा ताक पर रखते हुए ममता को खुली चुनौती दी है। पीएम ने उत्तर प्रदेश के मऊ में चुनाव सभा को संबोधित करते हुए कहा है कि, “ देखते हैं ममता मेरी रैली को कैसे क्षति पहुंचाती हैं, हो सकता है वो मेरा हेलीकॉप्टर भी न उतने दे।”

बता दें कि बंगाल में चुनावी हिंसा को देखते हुए चुनाव आयोग ने अतंमि चरण के लिए प्रचार अवधि में कटौती की है। पहले से तय कार्यक्रम के अनुसार अंतिम चरण के लिए चुनाव प्रचार का अंतिम दिन 17 मई की शाम 6 बजे तक था लेकिन अब इसे करीब 19 घंटे पहले 16 मई की रात 10 बजे तक कर दिया गया है। प्रचार अवधि में कटौती के बाद अब आखिरी चरण के लिए प्रचार प्रसार में कुछ ही घंटे बचे है। लिहाजा राजनीतिक दलों को अपने कुछ कार्यक्रमों की समय-सारणी भी बदलनी पड़ी है। 

loading...