Breaking News
  • 18वां कारगिल विजय दिवस आज- शहीद सैनिकों को नमन कर रहा है देश
  • फसल बीमा से जुडी कम्पनियाँ नुकसान का फ़ौरन आंकलन करें- मोदी
  • पाकिस्तानी आतंकवादी मोहम्मद कोया को कर्नाटक कोर्ट से 7 साल की सजा
  • भारत-श्रीलंका के बीच पहला टेस्ट मैच गाले में आज रंगना हेराथ संभालेंगे कप्तानी, चांदीमल बाहर
  • बाढ़ प्रभावित गुजरात में हवाई सर्वेक्षण के बाद पीएम ने किया 500 करोड़ का ऐलान
  • राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल का चीन दौरा- BRICS देशों की बैठक में लेंगे हिस्सा

सावन पर कई सालों बाद आता है ऐसा संयोग- जानिए क्या है खास महत्व


नई दिल्ली: पावन महीना सावन आज से शुरू हो चुका है  और आज सावन का पहला सोमवार है, इस साल सावन का का प्रारंभ और दोनों की सोमवार से हो रहा है। इस लिए इस साल का सावन बेहद ही खास है। आज सुबह से ही सभी छोटे-बड़े शिव मंदिरों में भक्तों का ताता लगना शुरू होगया।

इस साल सावन महीने में पांच सोमवार है, पहला सोमवार आज 10 जुलाई को है, जबकि सावन का अंत 7 अगस्त को होगा और इस दिन भी सोमवार ही है। ऐसा खास योग कई सालों के बाद बनता है।

इविन लुईस की आंधी में उड़ा भारत- जानिए 12 छक्के और 6 चौके लगाने वाले...

जानकारों के अनुसार इस साल सावन माह में तीन सोमवार सर्वार्थ सिद्धि योग बन रहे हैं। पहला सोमवार सर्वार्थ सिद्धि योग में शुरू होगा और आखिरी सोमवार के सर्वार्थ सिद्धि योग में खत्म भी होगा। सर्वार्थ सिद्धि योग बेहद ही शुभ होता है, यह दिन अपने आप में सिद्ध है और इस दिन की गई पूजा या हवन-यज्ञ का महत्व भी खास होता है।

जानिए होली पर रामलीला का मजबूरी

इस साल सावन माह में पांच सोमवार है जो रोटक व्रत कहलाता है, इसकी काफी अहमियत होती है, इस दिन भगवान शिव-पार्वती की प्रीति के लिए व्रक रखकर शिवजी की बेलपत्र, दूध, दही, चावल, पुष्प, गंगाजल के साथ पूजा करने से सभी मनोकामना पूर्ण होती है।

तैमूर की नजर उतारने की कीमत जान कर चौंक पड़ेंगे आप !

आपको बता दें कि सावन माह में सोमवार को भगवान शिव के लिए व्रत और उनकी पूजा करने से भक्तों पर विशेष कृपा होती है, सावन के अंत वाले सोमवार यानी आखिरी दिन को रक्षा बंधन का त्योहार होता, इस दिन चंद्रग्रहण का साया भी रहेगा।

loading...