Breaking News
  • नंदा देवी शिखर के पास ITBP को 7 पर्वतारोहियों के शव मिले
  • हार के बाद अखिलेश-मुलायम पर भड़की मायावती
  • BMC ने CM देवेंद्र फडणवीस के बंगले को घोषित किया डिफॉल्टर
  • संसद के दोनों सदनों में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव आज
  • बांग्लादेश में ट्रेन हादसे में 4 की मौत, 150 से ज्यादा घायल

पीएम को चैलेंज कर राहुल ने ‘मोल ली मुसीबत’, स्मृति ईरानी ने कह दी ऐसी बात...

नई दिल्ली: फ्रांस के साथ राफेल डील पर भारत में पिछले काफी समय से राजनीतिक बवंडर मचा है। मामले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने केंद्र की मोदी सरकार पर घोटाले का आरोप लगाते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ‘चोर’ तक कह दिया है। इतनी ही नहीं पिछले दिनों राहुल ने पीएम मोदी को चुनौती देते हुए देश के किसी भी कोने में 15 मिनट के लिए बहस करने की बात की थी।

राहुल गांधी द्वारा दिए गए चैलेंज पर केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने भी राहुल गांधी को चैलेंज दिया है। ईरानी ने कहा कि अगर वह चुनौती देना चाहते हैं, तो वह पीएमओ (प्रधानमंत्री दफ्तर) आ सकते हैं। वह बिना कागजात की मदद लिए देश के मुद्दों पर बोलें। साथ ही ईरानी ने राहुल पर तंज कसकते हुए कहा कि, अगर वह अमेठी की ग्राम पंचायतों का भी गिना दें तो यह बड़ी बात होगी।

बुरे फंसे कर्नाटक CM कुमारस्वामी, महिला से कह दी ऐसी बात...

आपको बता दें कि स्मृति ईरानी अमेठी दौरे पर हैं। बता दें कि अमेठी का इतिहात गांधी परिवार के साथ लंबे समय से जुड़ा रहा है। पूर्व पीएम इंदिरा गांधी के कार्यकाल के दौरान से ही उत्तर प्रदेश के अमेठी संसदीय सीट गांधी परिवार के साथ जुड़ा रहा है। हालांकि अब बीजेपी वाले गांधी परिवार ये सीट भी छिनने के फिराक में लगे हैं।

CBI में मामले में हैरान कर देने वाला खुलास, सामने आया डोभाल का नाम!  

साल 2014 के लोकसभा चुनाव में गांधी परिवार के गढ़ कहे जाने वाले अमेठी संसदीय सीट से बीजेपी की ओर से स्मृति ईरानी ने राहुल गांधी के खिलाफ चुनाव लड़ा था। हालांकि देश भर में मोदी लहर होने के बाद भी स्मृति ईरानी को राहुल गांधी के खिलाफ चुनाव में हार का सामना करना पड़ा था।

राजस्थान: ‘कांग्रेस के पायलट’ के खिलाफ BJP ने खेल दिया ‘मुस्लिम कार्ड’ 

लेकिन विधानसभा चुनाव में कांग्रेस अमेठी के लोगों ने कांग्रेस पार्टी को जोरदार झटका दिया था। इस दौरान अमेठी की चार विधानसभा सीटों में से तीन भाजपा के खाते में आई जबकि एक सीट पर उस समय की सत्ताधारी समाजवादी पार्टी की जीत हुई थी।
loading...