Breaking News
  • सोनभद्र जाने पर अड़ी प्रियंका गांधी, धरने का दूसरा दिन
  • असम और बिहार में बाढ़ से 150 लोगों की गई जान, 1 करोड़ से अधिक लोग प्रभावित
  • इलाहाबाद हाइकोर्ट ने पीएम मोदी को जारी किया नोटिस, 21 अगस्त को सुनवाई
  • कर्नाटक पर फैसले के लिए अब सोमवार का इंतजार

इंदिरा गांधी के वित्त मंत्री बनने के बावजूद भी सीतारमण बनी देश की पहली महिला वित्तमंत्री

नई दिल्ली : सभी कयासों को खत्म करते हुए आज यानी शुक्रवार को पीएम मोदी के सभी मंत्रियों के बीच विभागों का बंटवारा हो गया है। जिसकी शपथ राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने दिलवाई। बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह को गृहमंत्री, राजनाथ सिंह को रक्षा मंत्री, एस. जयशंकर को विदेश मंत्री और निर्मला सीतारमण को वित्त मंत्री पद्भार दिया गया। जिससे एक बार फिर निर्मला सीतारमण देश की पहली महिला वित मंत्री बन गई हैं। हालांकि इनसे पहले देश की पहली महिला प्रधानमंत्री श्रीमती इंदिरा गांधी ने वित्त मंत्रालय का पद्भार संभाला था लेकिन वह भी कुछ समय के लिए। जिससे सीतारमण देश की पहली ऐसी महिला वित्त मंत्री बनी, जो फुल टाइम वित्त मंत्रालय का जिम्मा संभालेंगी। इसके अलावा वे कॉरपोरेट अफेयर्स मंत्रालय का भी पद संभालेंगी। आपको बता दें कि इससे पहले भी निर्मला सीतारमण के नाम देश की पहली महिला रक्षामंत्री का गौरव हासिल है।  

 

आपको बता दें कि अरुण जेटली ने खराब स्वास्थ्य का हवाला देते हुए खुद को मंत्री न बनाए जाने की गुजारिश की थी। जिसके बाद कयास लगाए जाने लगे थे कि वित्त मंत्रालय का भार आखिर किसको सौंपा जाएगा। इस रेस में सबसे आगे पीयूष गोयल का नाम चल रहा था, लेकिन पीएम मोदी ने उन्हें रेल मंत्रालय का जिम्मा सौंप दिया।

बता दें कि तमिलनाडु के मदुरई में जन्मी निर्मला सीतारमण ने अपनी स्कूली शिक्षा तिरुचिरापल्ली से ली है। उन्होंने यहां के सीतालक्ष्मी रामास्वामी कॉलेज से अर्थशास्त्र में बीए किया है। वहीं दिल्ली की जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय से उन्होंने मास्टर्स की डिग्री हासिल की है। निर्मला सीतारमण के पिता रेलवे कर्मचारी थे, जिस कारण उनका बचपन कई राज्यों में बीता।

 

loading...