Breaking News
  • मंदी से निपटने के लिए सरकार ने किए बड़े ऐलान, ऑटो सेक्टर को होगा उत्थान
  • तीन देशों की यात्रा के दूसरे चरण में यूएई की राजधानी आबू धाबी पहुंचे मोदी
  • देश भर में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी की धूम, राष्ट्रपति कोविंद और पीएम मोदी ने दी शुभकामनाएं
  • 1st Test Day-2: भारत की पहली पारी 297 रनों पर सिमटी, रवींद्र जडेजा ने बनाए 58 रन

मोदी सरकार और शाह की फैन हुई शिवसेना, कहा चाहिए बलूचिस्तान और पीओके

नई दिल्ली : जम्मू-कश्मीर को लेकर करीब हफ्ते भार से जारी अफवाहों की आंधी के बीच मोदी सरकार के इस फैसले ने विरोधियों के पैरों तले से जमीन खींच ली, जबकि सरकार के इसी फैसले पर सहयोगी फूले नहीं समां रहें। ये फैसला है जम्मू-कश्मीर में 370 का कुचला जाना, जिसके बाद अब अलग-अलग तस्वीरें सामने आ रही है।

केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह द्वारा जम्मू-कश्मीर में धारा 370 हटाने का संकल्प पेश करने के बाद जहां कुछ दलों ने खुलकर समर्थन किया है, वहीं कुछ दलों ने तीखा विरोध भी किया। पहले बात समर्थन की, क्योंकि मोदी सरकार के इस ऐतिहासिक फैसले ने शिवसेना को इतनी खुशी दी, शायद किसी ने अंदाजा भी नहीं लगाया था। जरा सुनिए फैसले पर शिवसेना सांसद क्या कहते हैं...

संजय राउत कहते हैं ये खुशी इतनी बड़ी है, वीर सावरकर, दिन जयाल उपाध्याय, श्यामा प्रसाद मुखर्जी और बाला साहब ठाकरे भी स्वर्ग से पुष्प बरसा रहे होंगे।

इसके साथ ही शिवसेना सांसद ने धारा 370 का समर्थन करने वाले लोगों की कड़ी आचोना की, महबूबा के बयान पर पलटवार करते हुए संजय राउत ने कहा कि लोग धमकी देते हैं कि हाथ लगाने वालों का हाथ नहीं शरीर जल जाएगा, जलाइए अगर हिम्मत है तो।

वहीं विरोधियों पर तंज कसते हुए राउत ने ऐसी बात कहीं की पूरा संसद ठहाके से गूंज उठा। इस बड़ी जीत से लवरेज शिवसेना अब जम्मू-कश्मीर के बाद बलूचिस्तान और पीओके पर भी कब्जा करने की बात कह रही है तो इधर  पीडीपी नेता महबूबा मुफ्ती ने केन्द्र सरकार के निर्णय को भारतीय लोकतंत्र के लिए काला दिन करार दिया है। जबकि इधर दूसरी ओर संसद भवन परिसर में पीडीपी के राज्यसभा सांसद नजीर अहमद लावे और एमएम फैयाज ने संसद भवन परिसर में विरोध प्रदर्शन किया। सरकार के फैसले से पीडीपी के फैयाज इतने गुस्से हुए कि अपना कुर्ता फाड़ लिया, जिससे सदन में अजीबोगरीब स्थिति पैदा हो गई। इसके बाद पीडीपी के एक सदस्य ने संविधान की छाया प्रति और दूसरे ने विधेयक की प्रति को फाड़कर उछाल दिया।

loading...