Breaking News
  • आईएस आतंकियों ने मोसुल की प्रसिद्ध नूरी मस्जिद को विस्फोट से उड़ाया
  • J&K: पुलवामा में रात भर चली मुठभेड़ के बाद लश्कर के 3 आतंकी ढेर-पत्थरबाज फिर बने रुकावट
  • दिग्गज टेनिस स्टार बोरिस बेकर दिवालिया घोषित
  • ISRO ने PSLVC38/कार्टोसैट-2 सैटेलाइट मिशन सीरीज का काउंटडाउन शुरू किया- आज सुबह 5:29 से हुआ शुरू
  • 20 लाख रुपये के टर्नओवर तक GST में छूट: राजस्व सचिव

PAK उच्चायोग है जासूसी का अड्डा, शिवसेना ने की दिल्ली से हटाए जाने की मांग…!


MUMBAI:-  पाक कलाकारों के विवाद के बाद अब जासूसी रैकेट में पाकिस्तान उच्चायोग के अधिकारियों के शामिल होने पर उच्चायोग को दिल्ली से हटाने की मांग की है। अपने मुख्य पत्र सामना में शिवसेना ने पाक उच्चायोग को जासूसी का अड्डा बताया है।

सामना के संपादकीय में लिखा गया, 'पाकिस्तान की टेढ़ी पूंछ सीधी होने का नाम नहीं ले रही है. इसका उदाहरण एक बार फिर देखने को मिला है। साथ ही लिखा है कि हिंदुस्तान की राजधानी में बैठकर पाकिस्तानी खुफिया संगठन आईएसआई जासूसी का एक बहुत बड़ा रैकेट चला रही थी।ऐसी जानकारी सामने आई है और पाक उच्चायुक्त का अधिकारी महमूद अख्तर ही इस रैकेट का सूत्रधार है जबकि खुद अख्तर ने कबूल किया है कि जासूसी में मेरे साथ 16 अधिकारी शामिल थे।

वहीं शिवसेना ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय कानून के चलते पाकिस्तानी अधिकारियों को हिंदुस्तान से मुक्त करना पड़ा, लेकिन जो हिंदुस्तानी साजिश में शामिल थे, उन आस्तीन के सांपों को अब कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए। वहीं उन्होंने कहा कि दिल्ली का पाकिस्तानी उच्चायुक्त कार्यालय इस साजिश का केंद्र था। साथ प्रश्न उठाते हुए कहा कि पिछले कुछ महीनों या सालों में इन जासूसों ने हिंदुस्तान की कितनी खुफिया जानकारियां प्राप्त की और पाकिस्तानी गुप्तचर संस्था को दी है, यह पाकिस्तान को ही मालूम होगा।

शिवसेना ने कहा कि 'पाकिस्तान के दो-चार अधिकारियों की हकालपट्टी करने से कुछ नहीं मिलेगा। पाकिस्तान के 16 अधिकारी यदि साजिश में शामिल हैं तो आईएसआई के इस पूरे अड्डे को भारत से हटा देना चाहिए। 

loading...