Breaking News
  • भागलपुर: सरकारी खाते से राशि की अवैध निकासी मामले की CBI जांच, सीएम ने दिया निर्देश
  • आयकर विभाग ने लालू की बेटी मीसा भारती और उनके पति को पूछताछ के लिए बुलाया
  • उत्तर प्रदेश: 7,500 किसानों को सौंपा गया कर्ज माफी प्रमाण पत्र
  • स्पेन: बार्सिलोना आतंकी हमले में 13 की मौत, 2 संदिग्ध गिरफ्तार
  • तमिलनाडु: पूर्व मुख्यमंत्री स्वर्गीय जे. जयललिता की मौत की जांच के आदेश
  • जम्मू-कश्मीर: आतंकी फंडिंग के मामले में व्यापारी ज़हूर वताली गिरफ्तार

शरद यादव नहीं डालेंगे मोदी के सामने हथियार, बनाएंगे नीतीश कुमार से अलग राह?

नई दिल्ली: बिहार के सीएम नीतीश कुमार द्वारा 2019 के आम चुनाव में मोदी की जीत की भविष्यवाणी पर जेडीयू नेता शरद यादव ने बड़ा पलटवार किया है। मालूम हो कि नीतीश कुमार के महागठबंधन से अलग होकर बीजेपी के साथ जाने से शरद यादव अभी भी नाराज हैं। उन्होंने नीतीश कुमार के फैसले पर कहा कि उन्होंने जनता के वोट का अपमान किया है।    

महागठबंधन के टूटने के बाद नीतीश कुमार के एनडीए के साथ मिलकर सरकार बनाए के बाद से ही बागी तेबर अपनाए हुए जेडीयू के पूर्व अध्यक्ष और मौजूदा राज्यसभा सांसद शरद यादव लगातार सीएम नीतीश कुमार पर हमला कर रहे हैं। वह कोई भी ऐसा मौका नहीं छोड़ रहे हैं कि जब नीतीश कुमार के सवाल का उन्हीं की भाषा में जवाब न दे रहे हों। सीएम नीतीश कुमार के उस बयान पर भी टिप्पणी की है जिसमें उन्होंने कहा था कि साल 2019 के लोकसभा चुनाव में पीएम नरेंद्र मोदी के सामने कोई चुनौती नहीं है।

वह जीत हासिल करेंगे। नीतीश के बयान पर पलटवार करते हुए शरद ने कहा कि '2019 अभी बहुत दूर है।' शरद के इस नये पलटवार से दोनों के बीच की तल्खी को साफ़ जाहिर कर दिया है। साथ ही यह भी साफ हो गया है कि शरद यादव अभी भी नीतीश कुमार के फैसले के खिलाफ हैं।

वहीँ शरद यादव ने मोदी के मंत्रिमंडल में शामिल होने के सवाल के जावाब में कहा 'मैंने कभी सत्ता और ताकत को ध्यान में रख कर कोई निर्णय नहीं लिया। सत्ता और ताकत मेरे निर्णय को डिगा नहीं सकते। वहीँ अभी तक माना जा रहा था कि शरद यादव को मोदी मंत्रीमंडल में जेडीयू कोटे से भेजा जाएगा।  

loading...

Subscribe to our Channel