Breaking News
  • सोनभद्र जाने पर अड़ी प्रियंका गांधी, धरने का दूसरा दिन
  • असम और बिहार में बाढ़ से 150 लोगों की गई जान, 1 करोड़ से अधिक लोग प्रभावित
  • इलाहाबाद हाइकोर्ट ने पीएम मोदी को जारी किया नोटिस, 21 अगस्त को सुनवाई
  • कर्नाटक पर फैसले के लिए अब सोमवार का इंतजार

महिलाओं के सहारे मोदी सरकार पर ‘शबाना का वार’

इंदौर: दुनिया का सबसे बड़ा लोकतांत्रिक देश, जहां महिलाओं को देवी-दुर्गा का दर्जा दिया जाता है। हाल ही में सरकार ने महिला सशक्तिकरण को ध्यान में रखते हुए नारी तू नारायणी नाम की एक योजना शुरू की है, ताकि सशक्त हो रही महिलाओं को और मजबूत बनाया जा सके। लेकिन जमीनी स्तर पर सरकार के ये दावे महिलाओं को सशक्त करने में नाकाम दिख रही है। ऐसा हम नहीं बल्कि मशहूर फिल्म अभिनेत्री और सामाजिक कार्यकर्ता शबाना आजमी कह रही हैं।

इंदौर में आयोजित एक कार्यक्रम में शामिल हुई शबाना आजमी ने मौजूदा दौर में भारत का जिक्र करते हुए कहा कि देश में इस तरह का माहौल बनाया जा रहा है कि सरकार की आलोचना करने वाले लोगों को तत्काल राष्ट्रविरोधी कह दे दिया जाता है। हमें इससे डरना नहीं चाहिए और इनके सर्टिफिकेट की किसी को जरूरत भी नहीं है।

शबाना ने न सिर्फ सरकार की आलोचना की बल्कि इससे निपटने के उपाय भी सुझाए। उन्होंने कहा कि हमारे मुल्क की अच्छाई के लिए जरूरी है कि हम इसकी बुराइयां भी बताएं। अगर हम बुराइयां बताएंगे नहीं, तो हालात में सुधार कैसे लाएंगे?  वहीं साम्प्रदायिक दंगों का जिक्र करते हुए शबाना आजमी ने कहा कि, इस तरह के दंगों में सबसे ज्यादा तकलीफ महिलाओं को होती है। हिंदुस्तान एक खूबसूरत मुल्क है। हम गंगा-जमुनी तहजीब में पले-बढ़े हैं।  लोगों को बांटने की कोशिश इस मुल्क के लिए सही नहीं हो सकती। हमें मौजूदा हालात के आगे घुटने नहीं टेकने चाहिए।

आपको बता दें कि देश की सरकार महिला सशक्तिकरण के चाहे लाख दावे करे, लेकिन समाज में आया दिन महिलाओं के साथ बढ़ती हिंसक घटनाएं सराकर के तामम प्रयोसों पर पानी फेरते रहे हैं, जिसके कारण सरकार आलोचकों के निशाने पर रही है। इसी क्रम में मशहूर फिल्म अभिनेत्री और सामाजिक कार्यकर्ता शबाना आजमी ने इशारों ही इशरों में सरकार पर बड़ा हमला बोला। 

loading...