Breaking News
  • काबूल: PD6 इलाके में डिप्टी सीईओ के घर के पास कार धमाका, 10 लोगों के मारे जाने की खबर
  • सावन का तीसरा सोमवार आज, शिवालयों में भक्तों की लंबी कतार
  • आज शाम 7.30 बजे राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का संबंधोन
  • इसरो के पूर्व प्रमुख प्रोफेसर यूआर राव का निधन- पीएम मोदी ने जताया दुख
  • महिला विश्व कप 2017: फाइनल मुकाबले में इंग्लैंड ने भारतीय टीम को 9 रनों से हराया

भारत के हाथों लगा ये लाखों का समुद्री खजाना..


NEW DELHI:- जियोलाजिकल सर्वे ऑफ इंडिया के वैज्ञानिकों को भारतीय समुद्र से लाखों टन कीमती धातु और खनिज मिले हैं। 2014 सबसे पहले इनका पता चला था मंगलुरु, चेन्नई और मन्नार से। वैज्ञानिकों को जो लाइम मड, फॉस्फेट रिच और कैलकेरियस सेडीमेंट्स, हाइड्रोकार्बंस, मेटेलीफेरस डिपॉजिट्स और माइक्रोनोडयूल्स मिले उनसे यह साफ पता चलता है कि समुद्र की और गहराई में जाने पर और ज्यादा मात्र में खनिज और धातु मिलने की संभावना है।

तीन साल के अन्वेषण के बाद जीएसआई को 181,025 वर्ग किलोमीटर के हाई रिजोल्यूशन सीबेड मोर्फोलोजिकल डाटा, मिला है जो भारत के इकॉनोमिक जों में 10,000 मिलियन टन के लाइम मड के होने का पता चला है।

इसी के साथ करवर, मंगलुरु और चेन्नई के तट पर फॉस्फेट सेडीमेंट का भी पता चला है। तमिलनाडु के मन्नार बेसिन पर भी गैस हाइड्रेट मिला है। इसके साथ ही अंडमान से फेरो मैंगनीज क्रस्ट मिले हैं और लक्ष्यद्वीप से माइक्रो-मैंगनीज नोड्यूल्स मिले हैं।

इस काम को पूरा करने में तीन रिसर्च वेसेल की मदद ली गई जिसमें समुद्र रत्नाकर, समुद्र कौस्तुभ और समुद्र सऊदीकामा शामिल है। इसका मूल उद्देश्य समुद्री खनिज संसाधनों का पता लगाना था।     

loading...