Breaking News
  • नये ट्रैफिक नियमों में बढ़े हुए जुर्माने के खिलाफ हड़ताल पर ट्रांसपोर्टर्स
  • यूनाइटेड फ्रंट ऑफ ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन ने किया है हड़ताल का आहवाहन
  • महाराष्ट्र दौरे पर पीएम मोदी, नासिक से करेंगे चुनाव प्रचार अभियान का आगाज
  • साउथ अफ्रीका के खिलाफ दूसरे टी20 मैच में 7 विकेट से जीता भारत

पानी ही पानी, उफान पर कई राज्यों की नदियां, सावधान...

नोएडा : देश में चारों तरफ बाढ़ का कोहराम मचा हुआ हैं । इंसान से लेकर जानवर तक इस बाढ़ से निजात पाने की कोशिश कर रहे हैं। वो भगवान से प्रार्थना कर रहे हैं की कब उन्हे इस बाढ़ से निजात मिलें लेकिन बाढ़ भी अपनी जिद्द पर अड़ा हुआ है। बता दें कि ये बाढ़ सिर्फ बारिश के पानी की ही नही बल्कि दूसरी नदियों का छोडा गया पानी भी हैं, जो कई राज्यों से छोड़ा गया है । बता दें की बाढ़ की इन विभीषिकाओं में व्यास, सतलुज, गंगा, युमना जैसी कई नदियां उफान पर हैं जो अपने रौद्र रूप में सारे प्रदेश को जलमग्न करने पर तुली हुई हैं। चाहे वह हरियाणा हो या उत्तर प्रदेश।

बता दें कि हरियाणा के हथिनी कुंड बैराज से 8 लाख क्यूसेक पानी छोड़े जाने से ग्रेटर नोएडा के कई गांवों में फसल नष्ट हो गई है, देखते ही देखते लोगों के खेतों और घरों में पानी भर गया है। गांव वालो ने बताया कि पशुओं के चारों और सब्जियों की मुश्किलें पैदा हो गई है । वहीं तिलवाड़ा गांव में करीब 20 परिवार फंसने की भी बात सामने आई है, जिनके लिए NDRF को बुलाया गया हैं और अब NDRF फंसे हुए लोगों को बचाने में लगी हुई है ।

वही अब उत्तर प्रदेश के फतेहपुर में भी यमुना नदी का प्रकोप देखते ही देखते ही बढ़ता जा रहा हैं । बिंदकी और सदर तहसील के हालात भी भी खराब होते जा रहे हैं । प्रशासन ने यमुना नदी के किनारे बाढ़ चौकियां तैनात कर दी हैं, जिन पर 24 घंटे कर्मचारियों की तैनाती की गई है।

वहीं हापुड़ और गढ़मुक्तेश्वर में भी बाढ़ जैसे हालात दिख रहे हैं, अधिकारी लगातार गांवों के दौरे पर हैं और स्थिति का जायजा ले रहे हैं । सावधानी बरतते हुए उन इलाकों की बिजली कनेक्शन को भी काट दिया गया है, जहां पानी भरा हुआ है। अभी आने वाले वक्त में पानी का स्तर और भी बढ़ सकता है। वाराणसी में गंगा और वरुणा दोनों नदियां तबाही मचाने के लिए उफान पर हैं । गंगा खतरे के निशान से कुछ ही दूरी पर है, बुलंदशहर में भी गंगा का रौद्र रूप देखने को मिल रहा है। नदी के किनारे बने मकानों और दुकानों में पानी भर गया है, हालात की गंभीरता को देखते हुए लोगों को सुरक्षित जगहों पर भेजा गया है।

loading...