Breaking News
  • मंदी से निपटने के लिए सरकार ने किए बड़े ऐलान, ऑटो सेक्टर को होगा उत्थान
  • तीन देशों की यात्रा के दूसरे चरण में यूएई की राजधानी आबू धाबी पहुंचे मोदी
  • देश भर में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी की धूम, राष्ट्रपति कोविंद और पीएम मोदी ने दी शुभकामनाएं
  • 1st Test Day-2: भारत की पहली पारी 297 रनों पर सिमटी, रवींद्र जडेजा ने बनाए 58 रन

इधर लोकसभा में तीन तलाक बिल पर चर्चा, उधर तंबाकू वाले मंजन पर तलाक

नोएडा : चुनावी वादों पर अमल करते हुए मोदी सरकार 2.0 ने एक बार फिर लोकसभा में तीन तलाक बिल पेश किया। गुरुवार को लोकसभा में चर्चा की शुरुआत केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने की और उन्होंने विपक्ष पर इसका विरोध करने का आरोप लगाया। प्रसाद ने कहा कि तीन तलाक से पीड़ित मुस्लिम बहनों ने सुप्रीम कोर्ट में गुहार लगाई थी। इसके बाद कोर्ट ने फैसला देते हुए तीन तलाक को असंवैधानिक करार दिया।

सदन में चर्चा के दौरान मंत्री ने तीन तलाक को मुस्लिम महिलाओं की मर्यादा के खिलाफ बताते हुए कई उदाहरण भी पेश किए। उन्होंने बताया कि एक पति ने अपनी पत्नी को इसलिए तलाक दे दिया, क्योंकि पत्नी तंबाकू वाला मंजन करती थी। एक और मामले में ‘पत्नी ने सब्जी के लिए मांगे 30 रुपये तो शौहर बोला तलाक-तलाक-तलाक’, ‘मोबाइल ऑपरेटर ने पत्नी का अश्लील वीडियो बनाना चाहा और विरोध किया तो तलाक दे दिया गया’।

वहीं तीन तलाक को महिला सम्मान से जोड़ते हुए मंत्री ने कहा कि जब दुनिया के 20 से अधिक मुस्लिम देश तीन तलाक को बैन कर सकते हैं तो हम क्यों नहीं कर सकते हैं? महिला का धर्म भले ही कुछ भी हो लेकिन वह हिंदुस्तान की बेटी है इसलिए उसकी रक्षा करना हमारा फर्ज है।

इसके साथ ही केंद्रीय मंत्री ने अपनी सरकार की पीठ थपथपाते हुए कहा, हमारी सरकार महिलाओं को आगे बढ़ाने के लिए कदम उठा रही है, आज महिलाएं इसरो मिशन की अगुवाई कर रही हैं, संसद में भी महिलाओं की संख्या बढ़ी हैं। हालांकि ऐसा कहते हुए सरकार को थोड़ा ग्लानी का भी सामना करना पड़ा, जब विपक्ष की ओर से आवाज आई कि ‘आपकी पार्टी में मुस्लिम सांसद एक भी नहीं है’।

loading...