Breaking News
  • सोनभद्र जमीन मामले में अब तक 26 आरोपी गिरफ्तार, प्रियंका करेंगी मुलाकात
  • वेस्टइंडीज दौरे के लिए रविवार को 11:30 बजे होगा टीम इंडिया का चयन
  • बिहार : बाढ़ से अब तक 83 लोगों की मौत
  • कर्नाटक में आज दोपहर डेढ़ बजे तक सरकार को साबित करना होगा बहुमत

राजनाथ सिंह ने किया अपना पदभार ग्रहण, सामने ये बड़ी चुनौतियां

नई दिल्ली: बीजेपी के पूर्व अध्यक्ष और गृह मंत्री रहे राजनाथ सिंह को बीजेपी के दिग्गजों में से एक माना जाता है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बाद दूसरे नंबर पर शपथ लेने वाले राजनाथ सिंह पिछली सरकार में गृह मंत्री थे, लेकिन मौजूदा सरकार में उन्हें रक्षा मंत्रालय की कमान सौंपी गई है। गृहमंत्री के पद को पूरी गरीमा से संभालने के बाद अब राजनाथ सिंह को रक्षा मंत्रालय का प्रतिनिधित्व करना है, लेकिन इस पद को लेकर राजनाथ के सामने कई बड़ी चुनौतियां है। जिससे उन्हें बेरा पार करना होगा, आखिर क्या है वो चुनौतियां

वो चुनौतियां है आतंकवाद, नक्सलवाद, चीन और पाकिस्तान द्वारा सीमा उल्लंघन औऱ सबसे प्रमुख तीनों सेवाओं जल सेना, वायु सेना और थल सेना का आधुनिकीकरण। जिससे वे युद्धक क्षमताओं के मामले में और मजबूत हो सके। आपको बता दें कि राजनाथ सिंह ऐसे समय में रक्षा मंत्री का पदभार संभाल रहे हैं, जब भारत ने तीन महीने पहले पाकिस्तान के बालाकोट में आतंकवादी शिविरों पर हवाई हमला किया और ऐसा कहा जा रहा है कि सीमा पार आतंकवाद से निपटने के लिए भारत इसी नीति पर आगे भी चलेगा।

और जहां तक बात है राजनाथ सिंह के राजनीतिक करियर की तो राजनाथ सिंह ने अपना करियर आरएसएस के स्वयंसेवक के रूप में शुरू किया था। लेकिन 1974 में मिर्जापुर क्षेत्र के जनसंघ के सचिव के रूप में राजनीति में शामिल हुए और बाद में 1977 में मिर्जापुर से सांसद बने। विरोधियों के खिलाफ अक्रामक रूख रखने वाले सिंह एक मृदुभाषी राजनीतिज्ञ और मोदी मंत्रिमंडल में सबसे वरिष्ठ नेता हैं। पिछले कार्यकाल में गृह मंत्री के रूप में राजनाथ सिंह ने कश्मीर उग्रवाद, पाकिस्तान में घुसपैठ, अन्य चुनौतियों के बीच भारत में इस्लामिक स्टेट के उभार को दबाने की दिशा में काफी संघर्ष किया है। अब देखना है कि राजनाथ अपने इस नई जिम्मे को किस प्रकार संभालते है।

बता दें कि राजनाथ सिंह लखनऊ लोकसभा सीट का प्रतिनिधित्व करते हैं। उन्होंने 2009 में गौतमबुद्धनगर लोकसभा क्षेत्र का प्रतिनिधित्व किया था। 2014 में उन्होंने लखनऊ सीट से बीजेपी का प्रतिनिधित्व किया जिसमें उन्हें जीत हासिल हुई। 2014 के बाद 2019 में भी उन्होंने इस सीट पर सपा प्रत्याशी पूनम सिन्हा को हराकर इस सीट पर दोबारा जीत हासिल किया।

loading...