Breaking News
  • चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने सुप्रीम कोर्ट में आज चार नए जजों को दिलाई शपथ
  • ह्यूस्टन में हाउडी मोदी कार्यक्रम की सफलता पर भड़का पाकिस्तान
  • आर्मी चीफ बिपिन रावत का बयान, पाकिस्तान ने बालाकोट में आतंकी कैंपों को फिर से सक्रिय कर दिया है
  • गृह मंत्री ने कहा कि कहा कि 2021 की जनगणना में मोबाइल एप का प्रयोग होगा

राहुल ने मानी हार, की इस्तीफे की पेशकश

नई दिल्ली : लोकसभा चुनाव 2019 एक एतिहासिक मोड़ पर पहुंच गया है। एकबार फिर बीजेपी नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में सरकार बनाने जा रही है। अब तक आए रुझानों में जहां एनडीए की बढ़त 347 सीटों पर पहुंच गई है। वहीं, कांग्रेस समेत पूरे विपक्षी खेमे को बीजेपी ने जड़ से उखाड़ दिया है। इसी के मद्देनजर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मीडिया से मुखातिब होते हुए हार को स्वीकार कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को जीत की बधाई दी। इसके साथ ही अगर सूत्रों की मानें तो राहुल ने पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष यानी अपनी मां से अध्यक्ष पद से इस्तीफे की भी पेशकश की है।

आपको बता दें कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने हार के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस की और नतीजों की जिम्मेदारी ली। राहुल ने कहा कि उनकी लड़ाई विचारधारा की है और मैं नरेंद्र मोदी और बीजेपी को जीत की बधाई देता हूं। इसके साथ ही राहुल ने अपने कार्यकर्ताओं से विश्वास ना खोने की भी अपील की। राहुल ने कहा कि जो हमारे नेता चुनाव हारे हैं, उन्हें डरने की जरूरत नहीं और ना ही अपना विश्वास खोने की। इसके साथ ही राहुल ने अमेठी से स्मृति ईरानी की जीत भी स्वीकार की और उनसे अमेठी की जनता का प्यार से ख्याल रखने की अपील की है। हालांकि राहुल कर्नाटक के वायनाड सीट से बढ़त बनाएं हुए है।

अब जबकि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने हार का जिम्मा लेते हुए कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने की पेशकश कर दी है तो क्या पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी उनके इस पेशकश को स्वीकार करेगी? कौन बनेगा कांग्रेस का अध्यक्ष?

loading...