Breaking News
  • असम में आज दोपहर 1.55 बजे तक कोरोना के 111 नए मामले, कुल संख्या 1672 हुई
  • 69,000 सहायक शिक्षकों की चल रही भर्ती प्रक्रिया पर लखनऊ हाईकोर्ट बेंच ने लगाई रोक
  • IB कर्मचारी अंकित शर्मा मर्डर केस में तारीन हुसैन का हाथ, दिल्ली पुलिस ने दाखिल की चार्जशीट
  • महाराष्ट्र में कोंकण तट से टकराया निसर्ग चक्रवात, 100 KMPH की रफ्तार से चल रही है हवाएं
  • हर प्रवासी मजदूर को 10 हजार की एकमुश्त मदद दे केंद्र : ममता बनर्जी

रिलीज हुई राहुल गांधी की मजदूरों से मुलाकात पर बनाई गई डॉक्यूमेंट्री, प्रवासियों का दिखा दर्द

रिलीज हुई राहुल गांधी की मजदूरों से मुलाकात पर बनाई गई डॉक्यूमेंट्री, प्रवासियों का दिखा दर्द

नई दिल्ली: देश में जारी लॉकडाउन के बीच कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने पिछले दिनों प्रवासी मजदूरों से बातचीत की थी। जिसके बाद राहुल गांधी ने आज अपने यूट्यूब चैनल पर पूरा वीडियो जारी किया है। राहुल की आवाज में इस डॉक्युमेंट्री में मजदूरों की मुश्किलों को बयां किया गया है। राहुल की आवाज में जारी इस वीडियो में मजदूरों पर उनके घर लौटने के दौरान हुई ज्यादितियों का भी जिक्र है। राहुल ने इस वीडियो में मजदूरों के भविष्य के बारे में सवाल उठाए हैं।

राहुल गांधी द्वारा जारी किए गए इस वीडियो में राजधानी दिल्ली के आनंद विहार बस अड्डे से लेकर देश के विभिन्न हिस्सों के प्रवासी मजदूरों का वीडियो शामिल है। वीडियों में सुखदेव विहार में मजदूरों के साथ राहुल गांधी की बातचीत का वीडियो भी शामिल हैं।

पिछले दिनों राहुल गांधी ने प्रवासी मजदूरों का पैदल अपने घर जाते हुए एक वीडियो भी शेयर किया था। राहुल गांधी ने अपने ट्वीट में लिखा था, "अंधकार घना है। कठिन घड़ी है। हिम्मत रखिए।"राहुल गांधी ने लिखा था..."हम इन सभी की सुरक्षा में खड़े हैं। सरकार तक इनकी चीखें पहुंचा के रहेंगे। इनके हक की हर मदद दिला के रहेंगे। देश की साधारण जनता नहीं। ये तो देश के स्वाभिमान का ध्वज हैं। इसे कभी भी झुकने नहीं देंगे।"

पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष ने पिछले शनिवार को दिल्ली में सुखदेव विहार फ्लाईओवर के पास प्रवासी मजदूरों से 30 मिनट मुलाकात की थी। उनके साथ फुटपाथ पर बैठकर बातचीत की थी। मास्क, खाना और पानी दिया। उन्होंने कार्यकर्ताओं से बोलकर गाड़ियां मंगवाईं और कुछ मजदूरों को घर तक पहुंचाया था।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बिना नाम लिए राहुल गांधी पर निशाना साधा था। उन्होंने कहा, "प्रवासी जब पैदल जा रहे हैं तो उनके साथ बैठकर बात करने की बजाय बेहतर होगा कि उनके बच्चों या उनके सूटकेस को उठाकर पैदल चलें। दुख के साथ कह रही हूं इस बात को, जबकि आराम से भी कह सकती हूं। कांग्रेस अपनी सरकारों वाले राज्यों को क्यों नहीं बोलती कि और ट्रेन मंगवाओ। मैं कांग्रेस के ही शब्दों में कह रही हूं कि कांग्रेस हर दिन ड्रामेबाजी कर रही है। कल प्रवासियों के साथ रास्ते पर बैठकर बात करने की जो घटना हुई, क्या ये ऐसा करने का समय है? वो ड्रामेबाज नहीं हैं क्या?"

देखें वीडियोः

 

loading...