Breaking News
  • कश्मीर घाटी, लद्दाख में कड़ाके की शीतलहर जारी
  • पेट्रोल-डीजल के दाम में बढ़ोतरी, कच्चे तेल में नरमी
  • लोकसभा में सत्ता पक्ष, विपक्ष का हंगामा
  • पर्थ टेस्ट : 146 रन से हारा भारत, आस्ट्रेलिया ने की सीरीज में 1-1 से बराबरी
  • चक्रवाती तूफान Pethai Cyclone आज आंध्र प्रदेश के तट से टकराएगा

किसानों के मंच से राहुल का पीएम मोदी पर हमला, कहा अगर केंद्र नहीं दे रहें आपका हक तो बदल ...

नई दिल्ली : किसानों का दिवसीय आंदोलन अपने चरम बिंदु पर पहुंच चुका हैं लेकिन अभी तक किसी मंत्री की या सरकार की तरफ से किसानों की सुध तक नहीं ली गई। वहीं विपक्षी पार्टी किसानों के इस रैली के दौरान अपने चुनावी रोटी सेंकने में लगी हुई हैं। इस रैली को संबोधन करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पीएम मोदी पर हमला करते हुए कहा कि किसानों के लिए अगर सरकार को कानून बदलना पड़े तो वो बदले। लेकिन वो किसानो को वाजिब हक दें। इसके आगे राहुल ने कहा कि हिंदुस्तान के किसान केंद्र सरकार से अपना हक मांग रहीं हैं कोई तोहफा नहीं जिसके लिए उन्हें सोचना पड़ रहा हैं।

आखिर अचानक इतना नाराज क्यों हो गए देश के किसान, ये हैं असली कारण!

किसानों को संबोधित करते हुए राहुल ने कहा कि अगर आपको अपने हक के लिए सरकार बदलना पड़े तो बदलें, पीएम बदलना पड़े बदलें, मुख्यमंत्री बदलना पड़े बदलें मगर आप अपने हक के लिए लड़ते रहें। सरकार को किसानों के लिए कानून में बदलाव करना चाहिए जो कि वर्तमान सरकार नहीं कर रहीं। उन्होंने कहा कि कोई भी सरकार किसान का अपमान करेगी। देश के युवा को बदनाम करेगी, देश की जनता उसे हटाकर रहेगी। देश का किसान जो चाहेगा वही हम करेंगे।

थम गई राजधानी की रफ्तार, लाखों की संख्या में अचानक दिल्ली पहुंच गए किसान

वहीं सीपीएम नेता सीताराम येचुरी ने यहां संबोधन करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमित शाह की तुलना दुर्योधन और दुशासन से की। उन्होंने कहा कि चुनाव जीतने के लिए अब संघ के पास सिर्फ राम मंदिर का ही मुद्दा बचा है। आपको बता दें कि ये नेता यहां किसानो को संबोधन करने के लिए जंतर-मंतर आये थे, इनसे कदम से कदम मिलाने नहीं। आपको बता दें कि इस आंदोलन अभी तक 201 संगठन शामिल हो चुके हैं। 

पाकिस्तानी विदेश मंत्री कुरैशी का बड़ा बयान, कहा इमरान की गुगली में फंसा भारत

by

Amit kumar ranjan

loading...