Breaking News
  • फ्रांस: सूटवेल ऐथलेटिक्स मीट में भारत के भाला फेंक खिलाड़ी नीरज चोपड़ा ने जीता गोल्ड
  • संसद का मानसून सत्र आज से होगा शुरू, 10 अगस्त तक चलने वाले सत्र में 18 बैठकें
  • ग्रेटर नोएडा के शाहबेरी में 2 इमारतें गिरी- मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जांच के दिए आदेश

पंजाब: बदले-बदले से नजर आये पीएम मोदी के सुर, किसानों की आय पर बड़ा बयान

चंडीगढ़: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस समय पंजाब के मलोट में एक एक बड़ी किसान रैली को संबोधित कर रहे हैं। इस दौरांन उनके साथ हरियाणा के सीएम और राज्य बीजेपी-अकाली दल के कई नेता मौजूद रहे। पीएम नरेंद्र मोदी ने तीन राज्यों से आये किसानों को संबोधित करते हुए कई बड़ी बातें कहीं।

बयादें कि आगामी लोकसभा चुनाव में एक ही साल बचा है। ऐसे में अब नरेंद्र मोदी ने जमीन पर उतरकर मोर्चा संभालना शुरू कर दिया है। बुधवार को पीएम नरेंद्र मोदी पंजाब के मलोट में किसान कल्याण रैली को संबोधित कर रहे हैं। इस रैली में पीएम नरेंद्र मोदी की किसानों के लिए शुरू की गयी दूर गामी योजनओं पर बदला हुआ सुर देखा गया है।

फिर खून से लथपथ हुई इत्र नगरी: एक ही परिवार के आठ लोगों की दर्दनाक मौत

दरअसल किसानों की आय को दुगना करने की बात करने वाली बीजेपी की मोदी सरकार के आंकड़े और हालत खिन से नहीं लगते हैं वह इस मुकाम तक पहुँच पाएगी। ऐसे में किसानों की दुर्दशा से किसानन भी भलिभांत जान्ने लगे हैं कि 2022 तक इस किसानों की आय दुगना होना संभव नहीं है। ऐसे में हाल ही में किसानों ने एमएसपी बढाने की मांग करते हुए बड़ा प्रदर्शन किया था। जिसके बाद केंद्र सरकार ने एमएसपी बढ़ाने का दावा किया। लेकिन उसके दावों पर अनगिनत सवाल खड़े हो गये। वहीँ बुधवार को पीएम मोदी ने किसानों को संबोधित करते हुए आय बढ़ाने को लेकर बड़ी बात कही है।

पीएम मोदी का भाषण Live  

-2022 तक किसानों की आय दो गुना करने की हम कोशिश करेंगे।

-सीमाओं की रक्षा हो, खाद्य सुरक्षा हो या फिर श्रम उद्यम का क्षेत्र हो पंजाब ने हमेशा से देश को प्रेरित करने का काम किया है। पंजाब ने हमेशा खुद से पहले देश के लिए सोचा है।

इस इस्लामी संगठन ने दी धमकी: कहा ज्यादा मंदिर-मंदिर किया तो ठोक देंगे...!

-पिछले 4 साल में जिस प्रकार से देश के किसानों ने रिकॉर्ड पैदावार करके अन्न भंडारों को भरा है उसके लिए मैं देश के किसानों को नमन करता हूँ।

-कैसे भी स्थिति रही हो देश के किसान ने कभी मेहनत करने में कमी नहीं रखी लेकिन कांग्रेस पार्टी और उनकी सरकारों ने कभी किसानों की इज्जत नहीं की कभी उसको मान नहीं दिया।

-कांग्रेस पार्टी ने हमेशा किसानों को धोखा दिया कभी किसानों के सशक्तिकरण के लिए कार्य नहीं किया सिर्फ उन्हें वोट बैंक ही समझती रही।

हमारी सरकार ने MSP का अपना वाद पूरा किया है, लागत का डेढ़ गुणा मूल्य सुनिश्चित करने का काम हमारी किया है।

बीते चार वर्षों में करीब पौने दो लाख सिड विलेज कार्यक्रम चलाए गए हैं

जब से सरकार ने ये फैसला लिया है, तबसे देश के किसान की एक बहुत बड़ी चिंता दूर हुई है। उसको विश्वास है कि जो निवेश उसने किया है, जो श्रम लगाया है उसका फल उसे मिलेगा।

कांग्रेस और उनके सहयोगियों की नींद उड़ गयी है। देश के किसान चैन से सो जाए ये कांग्रेस पार्टी को मंजूर नहीं है।

बीज से बाजार तक एक व्यापक रणनीति के तहत कार्य किया जा रहा हैं, फसल की तैयारी से लेकर बाजार में बिक्री तक आने वाली हर समस्या के समाधान के लिए एक के बाद एक कदम उठाये जा रहे हैं।

देश में एक दौर था जब यूरिया किसानों के पास जाने के स्थान पर फैक्ट्रियों में चला जाता था और किसानों को यूरिया लेने के लिए लाठी खानी पड़ती थी, हमनें यूरिया का 100% नीम कोटिंग किया और आज यूरिया किसानों के लिए पर्याप्त मात्र में उपलब्ध होता है।

किसान की फसल बर्बाद ना हो इसके लिए प्रधानमंत्री किसान संपदा योजना चल रही है। देश भर में नए गोदाम बनाए जा रहे हैं, फूड पार्क बनाए जा रहे हैं। पूरी सप्लाई चेन को मजबूत किया जा रहा है और ये सुनिश्चित किया जा रहा है कि किसान को उसकी फसल नष्ट होने की वजह से नुकसान न उठाना पड़े।

गांव का गौरव और किसानों के सम्मान को फिर से स्थापित करने की दिशा में हम निरंतर आगे बढ़ रहें है।

- डेढ़ गुना समर्थन मूल्य का हमने वादा किया था, लेकिन इसको एक संकल्प के तौर पर हमने विस्तार दिया: पीएम मोदी

- कांग्रेस की और उनके सहयोगियों की नींद उड़ गई है। वह नहीं चाहते कि किसान चैन से सो जाए।

ईरान ने दी भारत को चेतावनी: US के दबाव में आकर न ले कोई बुरा फैसला

- मक्के के अलावा ज्वार, रारी जैसे पौष्टिक और फाइबर से पूरिपूर्ण अनाज के लिए भी 50 प्रतिशत से अधिक का लाभ सुनिश्चित किया गया है।

-70 साल तक जिन्हें किसानों का हक देने की फुर्सत नहीं थी, वो आज किसानों को गुमराह करने पर जुटे हैं। वहीँ उनकी सरकार में फसलों के समर्थन मूल्य में 200 रुपये से लेकर 1800 रुपये तक की वृद्धि की गई।

यह भी देखें-

 

loading...