Breaking News
  • 18वां कारगिल विजय दिवस आज- शहीद सैनिकों को नमन कर रहा है देश
  • फसल बीमा से जुडी कम्पनियाँ नुकसान का फ़ौरन आंकलन करें- मोदी
  • पाकिस्तानी आतंकवादी मोहम्मद कोया को कर्नाटक कोर्ट से 7 साल की सजा
  • भारत-श्रीलंका के बीच पहला टेस्ट मैच गाले में आज रंगना हेराथ संभालेंगे कप्तानी, चांदीमल बाहर
  • बाढ़ प्रभावित गुजरात में हवाई सर्वेक्षण के बाद पीएम ने किया 500 करोड़ का ऐलान
  • राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल का चीन दौरा- BRICS देशों की बैठक में लेंगे हिस्सा

पीएम नरेन्द्र मोदी का IAS अधिकारियों को गुरुमंत्र- व्यवस्था परिवर्तन के लिए गतिशील बदलाव की आवश्यकता!


नई दिल्ली: देश के पीएम नरेन्द्र मोदी ने आज 2015 बीच के IAS अधिकारिओं को संबोधित करते हुए तमाम बातें कहीं। उन्होंने भारत की आजादी के बाद से शुरू हुई प्रगति और विकास पर जोर देते हुए अधिकारिओं को कई गुर बताये। साथ ही मोदी ने कई चीजों से बचने की भी सलाह दी।    

पीएम नरेन्द्र मोदी आज 2015 बीच के IAS अधिकारों को संबोधित करते हुए कहा कि भारत को आजादी मिले 70 साल हो गये हैं। इन सालों में भारत ने जो विकास किया है वह पर्याप्त नहीं है। पीएम नरेन्द्र मोदी ने उन देशों का जिक्र किया जिन्होंने भारत के बाद आजादी हासिल की थी। उन्होंने कहा कि वह देश आज भारत को टक्कर दे रहे हैं, जो भारत की आजादी के बाद आजाद हुए हैं उन्होंने कहा की उनके पास संसाधनों की कमी होने के बाद भी वह प्रगति कर रहे हैं।

गौ सेवा के नाम पर अखिलेश यादव ने लुटाये करोड़ों रुपये, आरटीआई से हुआ खुलासा

Video:“नरेन्द्र मोदी, यह मुल्क तेरे बाप की जागीर नहीं है”

पीएम नरेन्द्र मोदी ने IAS अधिकारियों से कहा कि बदलाव को आगे बढ़ाने के लिए साहस की आवश्यकता पड़ती है। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि उन्हें उस सोच से बचना चाहिए जो बदलाव का विरोध करती है। पीएम मोदी ने कहा कि देश की प्रशानिक व्यवस्था ही आम आदमी को भरोसा देती है। ऐसे में हर नकारात्मक सोच को दूर कर के भारत के विकास में योगदान देना होगा। 

loading...