Breaking News
  • दिल्ली के उस्मानपुर में प्रॉपर्टी डीलर का मर्डर, बदमाशों ने चलाईं अंधाधुंध गोलियां
  • जापान चुनाव: शिंजो आबे की पार्टी ने आम चुनावों में जीत हासिल कर की वापसी
  • हिमाचल: 9 नवंबर को विधानसभा चुनावों के लिए नामांकन दाखिल करने का आज अंतिम दिन
  • उत्तराखंड बना देश का चौथा खुले में शौच से मुक्त राज्य

गौरक्षकों पर फिर फूटा पीएम मोदी का गुस्सा, अब होगी यह सजा?

नई दिल्ली: रविवार को संसद के मानसून स्तर से पूर्व पीएम नरेन्द्र मोदी ने सर्वदलीय बठक में कहा कि देशभर में गौरक्षा के नाम पर होने वाली हिंसाओं को बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। उन्होंने कहा कि किसी को कानून हाथ में लेने का अधिकार नहीं है। ऐसे लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जानी चाहिए।  

संसद का मानसून सत्र शुरू होने से एक दिन पहले रविवार को एक सर्वदलीय बैठक में मोदी ने सांसदों से कहा कि कानून और व्यवस्था राज्य के अधीन विषय है और इसलिए राज्य सरकारों को गाय के नाम पर हिंसा करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि गाय के नाम पर कुछ सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने की कोशिश में लगे हुए हैं।

संसदीय कार्य मंत्री अनंत कुमार ने संसद भवन में हुई बैठक की जानकारी देते हुए कहा कि केंद्र सरकार ने राज्य सरकारों को दिशा-निर्देश भेजे हैं। जिसमें गाय के नाम पर हिंसा और उन्माद फैलाने वालों पर कड़ी कार्रवाई की बात कही गयी है। उन्होंने कहा कि गौरक्षा के नाम पर देशभर में हो रही हिंसा और भीड़ द्वारा पीटना निंदनीय है। गौरक्षा के नाम पर कानून हाथ में लेने वालों पर सख्त कार्रवाई की जाये। साथ ही पीएम मोदी ने कहा कि हाय को लेकर कुछ लोग माहौल बिगाड़ रहे हैं।

बतादें कि सोमवार से संसद का मानसून सत्र शुरू हो रहा है। ऐसे में सत्ताधारी दल एनडीए ने सभी दलों के साथ बैठक कर मानसून सत्र में सहयोग देने की अपील की है।

loading...