Breaking News
  • दिल्ली के उस्मानपुर में प्रॉपर्टी डीलर का मर्डर, बदमाशों ने चलाईं अंधाधुंध गोलियां
  • जापान चुनाव: शिंजो आबे की पार्टी ने आम चुनावों में जीत हासिल कर की वापसी
  • हिमाचल: 9 नवंबर को विधानसभा चुनावों के लिए नामांकन दाखिल करने का आज अंतिम दिन
  • उत्तराखंड बना देश का चौथा खुले में शौच से मुक्त राज्य

इस्राइल की ऐतिहासिक यात्रा से पहले पीएम मोदी ने दिया अहम बयान- जानिए कैसे खास है यह यात्रा

नई दिल्ली: भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज मंगलवार को तीन दोनों के इस्राइल यात्रा पर रवाना हो रहे हैं। मोदी देश के ऐसे पहले प्रधानमंत्री हैं जो इस्राइल के आधिकारिक यात्रा कर रहे हैं। अपनी यात्रा से पहले पीएम मोदी ने कहा कि वह इस्राइल दौरे के दौरान प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू से आतंकवाद जैसी समान चुनौतियों पर चर्चा करने के साथ-साथ दोनों देशों के बीच आथर्कि संबंधों को मजबूत करने के रास्तों पर चर्चा करेंगे।

यहूदी देश की तीन दिनों की यात्रा के बाद पीएम जर्मनी के हैमबर्ग के लिए रवाना होंगे, जहां वह जी-20 सम्मेलन में हिस्सा लेंगे। इस्राइल दौरे के दौरान पीएम मोदी राष्ट्रपति रियुवेन रूवी रिवलिन से भी मुलाकात करेंगे और दोनों देशों के कंपनियों के सीईओ के साथ-साथ भारतीय मूल के लोगों से मुलाकाता करेंगे।

रेलवे स्टेशन पर बुर्के में क्या कर रहा था इंजिनियर नजमुल हसन- लोगों ने किया पुलिस के हवाले

जानकारी के अनुसार पीएम मोदी यहां करीब चार हजार भारतीय मूल लोगों को संबोधित भी करेंगे। इस क्रम में वह याद वाशेम स्मारक संग्रहालय भी जाएंगे और यहूदियों के सबसे बड़े नरसंहार (होलोकास्ट) में मारे गये लोगों को श्रद्धांजलि भी देंगे।

प्यार पर GST का असर- लवर के लिए खास, जाने कैसे महंगा होगा आपका प्यार !

इस दौरान मोदी 1918 में हैफा की आजादी के दौरान जान गंवाने वाले साहसी भारतीय सैनिकों को भी श्रद्धांजलि अपर्ति करेंगे। इस दौरे को लेकर पीएम मोदी ने कहा कि “मैं इस्राइल की ऐतिहासिक यात्रा शुरू कर रहा हूं जो भारत का बहुत विशेष साझेदार देश है”।

उन्होंने कहा कि ऐसा करने वाला पहला भारतीय प्रधानमंत्री होने के नाते मैं इस अभूतपूर्व यात्रा को बहुत आशा से देख रहा हूं जो दोनों देशों और लोगों को करीब लाएगी। पीएम  मोदी ने ट्वीट कर कहा कि मैं, मेरे दोस्त इस्राइली पीएम नेतन्याहू के साथ गहन बातचीत को लेकर आशान्वित हूं जो गतिमान भारत-इस्राइल संबंधों के लिए प्रतिबद्धता साझा करते हैं।

“नरेन्द्र मोदी, यह मुल्क तेरे बाप की जागीर नहीं है”

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि वह नेतन्याहू के साथ हमारी साझेदारी के समग्र आयाम पर और आपसी लाभ के लिए विविध क्षेत्रों में इसे मजबूत करने पर गहराई से विचार-विमर्श करेंगे। इस साल भारत और इस्राइल अपने कूटनीतिक संबंधों का 25 साल पूरा कर रहा है।

loading...