Breaking News
  • दिवाली तक कम हो सकती हैं पेट्रोल-डीजल की कीमतें- सूत्र
  • रोहिंग्या और रखाइन में शांति की पूरी कोशिश की- म्यंमार की सर्वोच्च नेता आंग सान सू
  • गुरूग्राम: सुरक्षा कारणों से फिर से बंद हुआ रेयान स्कूल, अब 25 सितंबर को खुलेगा
  • संयुक्त राष्ट्र महासभा का 72वां सत्र मंगलवार से- शनिवार को विदेश मंत्री स्वराज का संबोधन

शिकागो में स्वामी विवेकानंद के संबोधन की 125वीं वर्षगांठ- पीएम मोदी का खास भाषण

नई दिल्ली: देश के ही नहीं दुनिया भर में ‘परम ज्ञानी’ के तौर पर मशहूर विद्यमान स्वामी विवेकानंद के उस भाषण का आज 125 वां वर्षगांठ है जो उन्होंने शिकागो में दिया था। पूरी दुनिया और खास कर भारत के लिए विवेकानंद का यह भाषण ऐतिहासिक भाषण है। इसके साथ ही दीनदयाल उपाध्याय के जन्मशती समारोह के तहत आज भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी छात्रों के एक सम्मेलन को संबोधित करेंगे।

करीब 11 बजे शुरू हो रहे इस सम्मेलन का विषय यानी थीम ‘यंग इडिया, न्यू इंडिया’ है, जिसमें पीएम मोदी छात्रों को संबोधित करते हुए इस बात पर जोर डालेंगे कि युवा क्या है और देश के लिए युवा का क्या महत्व है। इससे पहले प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट कर कहा कि वह छात्रों के एक सम्मेलन को संबोधित करेंगे, जिसकी थीम ‘यंग इडिया, न्यू इंडिया’ है। उन्होंने कहा कि छात्रों का यह सम्मेलन ऐसे दिन हो रहा है, जिस दिन स्वामी विवेकानंद ने 1893 में शिकागो में अपना ऐतिहासिक भाषण दिया था।

रेलवे ला रहा सेमी हाईस्पीड ट्रेन, 9 की बजाय तीन घंटे में सफर होगा पूरा

आपको बता दें कि पीएम मोदी के इस भाषण का प्रसारण देश के सभी स्कूलों कॉलेजों में किया जाएगा, इस संबंध में यूजीसी ने पहले ही दिशा निर्देश जारी कर दिया है। तो वहीं पीएम मोदी ने एक अन्य ट्वीट के हवाले से कहा क ‘‘इस साल, हम स्वामी विवेकानंद के शिकागो भाषण की 125वीं वर्षगांठ और पंडित दीनदयाल उपाध्याय की जन्मशती का समारोह मना रहे हैं’, उन्होंने कहा कि विवेकानंद को युवा शक्ति में काफी भरोसा था और वह राष्ट्र-निर्माण में युवाओं के लिए महत्वपूर्ण स्थान देखते थे।

उत्तर प्रदेश का दूसरा क्रिकेट स्टेडियम भी तैयार, योगी अखिलेश की बीच मुकाबला- जाने क्या है खास!

पीएम ने कहा कि ‘स्वामी विवेकानंद के विचारों से प्रेरित होकर हम अपने युवाओं की आकांक्षाओं और सपनों को पूरा करने के लिए अथक प्रयास कर रहे हैं’। आपको बता दें कि यूजीसी यानी यूनिवर्सिटी और कॉलेज ने पीएम के इस भाषण के प्रसारण को लेकर निर्देश जारी किया था, जिसके बाद बंगाल की ममता बनर्जी सरकार ने केंद्र सरकार के निर्देश को मानने से इनकार भी कर दिया था।

यहां देखिए !

loading...