Breaking News
  • कुलभूषण जाधव मामले में आज आएगा फैसला, पाकिस्तानी वकील पहुंचे हेग
  • प्रयागराज : सपा सांसद अतीक अहमद के कई ठिकानों पर छापा
  • सिद्धू के इस्तीफे पर आज फैसला लेंगे पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर
  • कर्नाटक मामले में आज सुप्रीम कोर्ट आज सुनाएगा फैसला

साध्वी ने पार कर दी सारी हदें, तोड़ दिया मोदी का दिल

नई दिल्ली: राष्ट्रपित महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे के महिमामंडन ने नाराज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है। साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर द्वारा गोडसे देशभक्त बताये जाने से नाराज पीएम मोदी ने कहा कि उन्होंने (साध्वी) भले ही अपने बयान के लए माफी मांग ली हो लेकिन मैं मन से उन्हें कभी माफ नहीं कर पाऊंगा।

आतंकवाद (माले गांव बम धमाका) की आरोपी साध्वी को बीजेपी ने ‘भगवा आतंकवाद’ की पीड़िता के तौर पर पेश करते हुए मध्य प्रदेश के भोपाल लोकसभा सीट से उम्मीदवार बनाया है। लेकिन बीजेपी के साथ जुड़ने के बाद से ही साध्वी लगातार अपने बयानों से पार्टी की छवि धुमिल करने की कोशिश में लगी है।

सियासी महासमर के बीच साध्वी ने मुंबई हमले में शहीद हुए एटीएस अधिकारी हेमंत करकरे की शहादत पर विवादित बयान दिया। जिसके सहारे विरोधी कांग्रेस पार्टी समेत अन्य दलों ने बीजेपी पर हमलों की बौझार कर दी। विपक्ष का मूड भांपते हुए बीजेपी ने बिना देर किए साध्वी के बयान से पल्ला झाड़ लिया।

शहीद करकरे पर दिए विवादित बयान की आलोचना अभी खत्म भी नहीं हुई थी कि साध्वी ने महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे के प्रति अपना अटूट प्रेम जगजाहिर करते हुए कहा कि गोडसे देशभक्त थे, हैं और रहेंगे। साध्वी का ऐसा कहने की देरी थी कि कांग्रेस पार्टी इसे ले उड़ी और साध्वी के सहारे बीजेपी, नरेंद्र मोदी और अमित शाह की धज्जियां उड़ा दी।

हालात की नजाकत को समझते हुए बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने डैमेड कंट्रोल करते हुए साध्वी की बयान से न सिर्फ पल्ला झाड़ा बल्कि कार्रवाई के भी संकेत दिए। हालंकि शाह खंडन से भी बात नही बनी तो बीजेपी के सबसे बड़े चेहरे को सामने से मोर्चा संभालना पड़ा। साध्वी के गोडसे प्रेम की आलोचना करते हुए मोदी ने एक टीवी चैनल के साथ खात बातचीत के दौरान कहा कि ये बयान भयानक खराब है, आलोचना के लायक है।

मोदी ने कहा कि सभ्य समाज में इस तरह की भाषा नहीं चलती। ऐसा कहने वालों को आगे से 100 बार सोचना होगा। ऐसे बयान कि  जितनी निंदा की जाए उतना कम है। साथ ही पीएम ने कहा कि भले ही उन्होंने माफी मांग ली हो, लेकिन मैं मन से कभी माफ नहीं कर पाऊंगा। जबकि इसके पहले बीजेपी अध्यक्ष ने अपने एक ट्वीट में कहा कि विगत दो दिनों में अनंतकुमार हेगड़े, साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर और नलिन कतील के जो बयान आये हैं वो उनके निजी बयान हैं, उन बयानों से भारतीय जनता पार्टी का कोई संबंध नहीं है।

वहीं शाह ने एक अन्य ट्वीट में इशारों ही इशारों में तीनों नेताओं के डांस लगाते हुए कहा, “इन लोगों ने अपने बयान वापिस लिए हैं और माफ़ी भी मांगी है। फिर भी सार्वजनिक जीवन तथा भारतीय जनता पार्टी की गरिमा और विचारधारा के विपरीत इन बयानों को पार्टी ने गंभीरता से लेकर तीनों बयानों को अनुशासन समिति को भेजने का निर्णय किया है”।

आपको बता दें कि साध्वी ने एक सवाल के जवाब में कहा था कि महात्मा गांधी के हत्यारे गोडसे सबसे बड़े देशभक्त थे और जो लोग उन्हें आतंकवादी कहते हैं, वे अपने गिरेबां में झांककर देखें। हालांकि बीजेपी ने साध्वी के बयान से पल्ला झाड़ लिया लेकिन अनंतकुमार हेगड़े और नलिन कतील ने साध्वी का समर्थन किया था। हालांकि बयान पर विवाद बढ़ने के बाद सभी नेताओं को माफी मांगने पड़ी है। साथ ही पार्टी की अनुशासन समिति मे भी नेताओं से 10 दिनों के अंदर जवाब तलब किया है।

loading...