Breaking News
  • केन्द्रीय मंत्रिमंडल ने नई metrorailpolicy को मंजूरी दी
  • मध्यप्रदेश: स्थानीय निकाय चुनाव में BJP की जीत
  • केरल के कथित धर्मांतरण मामले की जांच NIA के हवाले: सुप्रीम कोर्ट
  • दिल्ली, यूपी समेत कई राज्यों में फैला स्वाइन फ्लू- अबतक 600 लोगों की मौत
  • सिंचाई परियोजनाओं के लिए 9,020 करोड़ रुपए की अतिरिक्त राशि मंजूर
  • अमेरिका ने हिजबुल मुजाहिदीन को विदेशी आतंकी संगठन घोषित किया

पीएम मोदी बोले- इन्हें देश से बाहर करना ही होगा- जनता संकल्प ले

नई दिल्ली: देश भारत में आज बुधवार को भारत छोड़ो आंदोलन की 75वीं सालगिरह मनाया जा रहा है। इस अवसर केंद्र की मोदी सरकार ने संसद में विशेष सत्र बुलाया है। इस दौरान सदन में मौजूद सदस्यों को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने शहीदों को सम्मान देने के साथ-साथ राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को भी याद किया।

आपको बता दें कि आजादी की लड़ाई के दौरान देश के क्रांतिकारियों के लिए ये बड़ी सफलता थी, जब 9 अगस्त 1942 को राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने अंग्रेजों के खिलाफ भारत छोड़ो आंदोलन की शुरुआत की थी। इस अवसर पर बापू को याद करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि “गांधी जी ने कहा था कि हम पूर्ण स्वतंत्रता से कम किसी बात से संतुष्ट नहीं होंगे, करेंगे या मरेंगे? गांधी के मुंह से करेंगे या फिर मरेंगे शब्द देश के लिए अजूबा था”।

इस अवसर पर पीएम ने कहा कि लोग एक साथ मिलकर देश को सांप्रदायिकता, जातिवाद और भ्रष्टाचार जैसी समस्याओं से मुक्त बनाने के लिए कदम उठाएं, आज जब हम 2017 में हैं, तब मैं इस बात से इनकार नहीं कर सकता कि आज हमारे पास गांधी हैं, लेकिन हमारे पास उस समय की उंचाई वाला नेतृत्व नहीं है, लेकिन सवा सौ करोड़ देशवासियों के साथ हम उस सपने को भी पूरा कर सकते हैं, जो उन्होंने देखा था।

आजादी के दिनों को याद करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि जब भारत को आजादी मिली थी, तब यह सिर्फ भारत की ही आजादी नहीं बल्कि कई अन्य देशों ने इससे प्रेरणा ली और फिर उन्हें भी आजादी मिली। पीएम ने देशवासियों से संकल्प लेने की मांग करते हुए कहा कि गरीबी, अशिक्षा, कुपोषण हमारे देश के लिए सामने बड़ी चुनौतियां हैं, जिसमें हमें सकारात्मक बदलाव लाने की जरूरत है।

loading...

Subscribe to our Channel