Breaking News
  • आईएस आतंकियों ने मोसुल की प्रसिद्ध नूरी मस्जिद को विस्फोट से उड़ाया
  • J&K: पुलवामा में रात भर चली मुठभेड़ के बाद लश्कर के 3 आतंकी ढेर-पत्थरबाज फिर बने रुकावट
  • दिग्गज टेनिस स्टार बोरिस बेकर दिवालिया घोषित
  • ISRO ने PSLVC38/कार्टोसैट-2 सैटेलाइट मिशन सीरीज का काउंटडाउन शुरू किया- आज सुबह 5:29 से हुआ शुरू
  • 20 लाख रुपये के टर्नओवर तक GST में छूट: राजस्व सचिव

पीएम मोदी की अपील! भूख और गरीबी से लड़ने के लिए हथियार तैयार करें वैज्ञानिक!


नई दिल्ली: देश की राजधानी दिल्ली में आज रविवार को पहले अंतरराष्ट्रीय कृषि बायोडायवर्सिटी सम्मेलन का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम का शुभारंभ करते हुए पीए मोदी ने यहां मौजूद लोगों को संबोधित भी किया। इस दौरान पीएम ने एम एस स्वामीनाथन के साथ-साथ कई अन्य वैज्ञानिकों को सम्मानित किया।

इस कार्यक्रम का आयोजन भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद के साथ मिल कर इंडियन सोसाइटी ऑफ प्लांट जेनिटिक रिसोर्सेज और बायोवर्सिटी इंटरनेशनल ने किया है, जो कि 6-9 नवंबर तक जारी रहेगा।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए पीएम ने कहा कि बायोडायवर्सिटी के बचाव करने के साथ भूख और कुपोषण से निपटने समाधान भी वैज्ञानिक खोजें। पीएम ने आगे कहा कि आज लाखों लोग भूख, गरीबी और कुपोषण से जूझ रहे हैं। उन्होंने कहा कि इन चुनौतियों से लड़ने में विज्ञान और प्रौद्योगिकी का भी महत्वपूर्ण भूमिका है।

मोदी ने कहा कि यह तय करने की जरूरत है कि इन चुनौतियों का समाधान खोजते हुए विकास और बायोडायवर्सिटी के संरक्षण की अनदेखी न करें। उन्होंने बायोडायवर्सिटी के संरक्षण के लिए अंतर्राष्ट्रीय, राष्ट्रीय और निजी संगठनों से संसाधनों और प्रौद्योगिकी के एक पूल बनाने की अपील की।

loading...