Breaking News
  • निर्यातकों के लिए बड़ी सौगात, विदेशी मुद्रा में कर्ज़ उठाने की मिलेगी सुविधा
  • भारत और स्लोवेनिया के बीच निवेश, खेल, संस्कृति

गुरु के जन्मदिन पर शिष्य ने दिया इतना बड़ा तोहफा

नई दिल्ली: आज देश के पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी का जन्मदिन है। वाजपेयी का जन्म 25 दिसंबर 1924 को मध्य प्रदेश के ग्वालियर में हुआ था, जबकि उन्होंने 16 अगस्त 2018 को दिल्ली के एम्स अस्पताल में अंतिम सांस लिया था। भारतीय राजनीतिक के दिग्गज नेताओं में एक वाजपेयी मौजूदा सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी के संस्थापक सदस्य हैं, जबकि मैजूदा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का उनसे काफी भावनात्मक लगाव है।

वाजपेयी के निधन के बाद पीएम मोदी कहा था कि उनके सिर से पिता का हाथ उठ गया। नरेंद्र मोदी वाजपेयी को अपना राजनीतिक गुरु भी मानते हैं। जिनके जन्मदिन के अवसर पर उन्होंने उनके एक अधूरे कार्य को पूरा कर बड़ा तोहफा भेंट किया है। दरअसल पीएम मोदी ने आज असम के डिब्रूगढ़ शहर के पास बोगीबील में ब्रह्मपुत्र नदी पर बने डबल डेकर रेल और रोड ब्रिज का उद्घाटन कर दिया है।

153 क्रांतिकारियों को मौत की सजा से बचाने वाले 'महामना' की ये बातें जानकर आप भी गर्व करेंगे

करीब 4.94 किमी लंबा यह पुल भारता का सबसे लंबा रेल-रोड पुल है जिसकी आधारशिला पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवेगौड़ा ने 22 जनवरी, 1997 रखी थी। हालांकि पुल का निर्माण कार्य 21 अप्रैल, 2002 को तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार के समय में शुरू हुआ लेकिन इसके बाद काफी सालों तक कई कारणों से कार्य बाधित रहा। बीजेपी की ओर से दी गई जानकारी के अनुसार, साल 2014 में प्रधानमंत्री बनने के बाद नरेंद्र मोदी ने युद्धस्तर पर कार्य कराया और अब 25 दिसंबर 2018 को प्रधानमंत्री मोदी ने पुल का उद्घाटन कर इसे राष्ट्र को समर्पित किया है।

देश को मिला सबसे लंबा डबल डेकर रेल-रोड ब्रिज, खुली जीप में सैर करते दि…

साथ ही पीएम इस लंबे पुल से गुजरने वाली पहली पैसेंजर रेलगाड़ी को भी हरी झंडी दिखा कर रवाना किया। इस दौरान आयोजित एक सभा को संबोधित करते हुए पीएम ने कहा कि, ये देश का सबसे लम्बा रेल-रोड ब्रिज है। ये देश का पहला पूरी तरह से स्टील से बना रेल-रोड ब्रिज है। ये पुल सिर्फ एक पुल नहीं है बल्कि ये इस क्षेत्र के लाखो लोगों के जीवन को जोड़ने वाली लाइफलाइन है। इससे असम और अरुणाचल के बीच की दूरी सिमट गई है।

भारत के लिए इतना जरूरी क्यों है ब्रह्मपुत्र नदी पर बना बोगीबील पुल, 19…

loading...