Breaking News
  • अंडमान के हैवलॉक द्वीप पर 800 टूरिस्टं फंसे, नेवी का रेस्यूंद्र ऑपरेशन
  • राज्यसभा और लोकसभा में नोटबंदी पर हंगामा
  • श्रीहरिकोटा: सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र से दूरसंवेदी उपग्रह RESOURCESAT-2A का सफल प्रक्षेपण

जापान दौरे पर रवाना हुए मोदी की बैंकॉक में सरप्राइज लैंडिंग!

नई दिल्ली: देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज गुरुवार को अपने तीन दिनों के जापान दौरे पर रवाना हुए, मोदी यहां राजधानी टोक्यो में वार्षिक द्विपक्षीय सम्मेलन में भाग लेगें। पीएम के इस दौरे के दौरान भारत और जापान के बीच कई अहम समझौते होने के आसार है।

पीएम के जापान दौरे की पुष्टि करते हुए विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप ने ट्वीट कर कहा कि इस बार का वार्षिक सम्मेलन जापान में है, जिसमें भाग लेने के लिए पीएम रवाना हो चुके है। स्वरूप के अनुसार इस क्रम में मोदी टोक्यो पहुंचने से पहले बैंकॉक का दौरा किया।

इस दौरान मोदी थाईलैंड के दिवंगत नरेश भूमिबोल अदुल्यादेज को श्रद्धांजलि दिया। गौर हो कि भूमिबोल का निधन लंबी बीमारी के कारण पिछले महिने ही हुआ है। वह विश्व के सबसे लंबे समय तक राज करने वाले राज के रुप में जाने जाते है।

मोदी ने यहां दिवंगत नरेश भूमिबोल के पार्थिव शरीर पर पुष्प अर्पित किया। आपको बता दे कि भूमिबोल के पार्थिव शरीर को बैंकॉक के ग्रैंड पैलेस में रखा गया है, खबरों के अनुसार उनका अंतिम संस्कार अगले साल तक हो सकता है।

अपने तीन दिनों के यात्रा पर निकले मोदी बैंकॉक से उड़ान भरने के बाद टोक्यो पहुंचेंगे, यहां वह वार्षिक द्विपक्षीय सम्मेलन में भाग लेंगे। इस दौरे के क्रम में दोनों देशों के बीच व्यापार, निवेश और सुरक्षा जैसे क्षेत्रों में समझौते होने के आसार है।

गौर हो कि अपने दौरे से पहले मोदी ने बुधवार को कहा था कि दोनों देशों के बीच हाईस्पीड रेल सहयोग से द्विपक्षीय व्यापार और निवेश को बढ़ावा मिलेगा। उन्होंने यह भी कहा था कि इससे न सिर्फ व्यापार और निवेश संबंध मजबूत होंगे बल्कि भारत में कौशल रोजगार का भी विकास के साथ-साथ मेक इन इंडिया अभियान पर भी असर होगा।

आपको बता दें कि पिछले साल जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे अपने भारत दौरे के दौरान मुंबई से अहमदाबाद के बीच हाईस्पीड रेलवे लाइन के निर्माण को लेकर अपनी प्रतिबद्धता बताई थी। पीएम बनने के बाद मोदी जापान के दूसरे दौरे पर है। इस दौरान वह 12 नवंबर को कोबे की यात्रा करेंगे और हाईस्पीड रेलवे निर्माण कार्यों का जायजा लेंगे।