Breaking News
  • नये ट्रैफिक नियमों में बढ़े हुए जुर्माने के खिलाफ हड़ताल पर ट्रांसपोर्टर्स
  • यूनाइटेड फ्रंट ऑफ ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन ने किया है हड़ताल का आहवाहन
  • महाराष्ट्र दौरे पर पीएम मोदी, नासिक से करेंगे चुनाव प्रचार अभियान का आगाज
  • साउथ अफ्रीका के खिलाफ दूसरे टी20 मैच में 7 विकेट से जीता भारत

... अब मिटता नज़र आएगा पाकिस्तान

नई दिल्ली : अब वो दिन दूर नहीं हैं जब हम पाकिस्तान के नाम को अपने आंखों के सामने मिटते देखेंगे। केंद्र सरकार ने भी बीएसएफ को पाकिस्तान के नाम को मिटाने का आदेश दे दिया है। जिससे पाकिस्तान का नाम वहां दूर-दूर तक नहीं दिखें। दरअसल यह बात है भारत-बांग्लादेश बॉर्डर की। आपको बता दे कि 1971 से पहले बांग्लादेश को पूर्वी पाकिस्तान कहा जाता था। जिस कारण भारत और बांग्लादश पर जो पिलर लगे हुए है, उस पिलर पर पाकिस्तान का नाम है। इसलिए बांग्लादेश सरकार ने भारत सरकार से यह अनुरोध किया था कि वह सीमा पर लगे उन पिलरों को हटाना चाहता है जिस पर पाकिस्तान का नाम अंकित है।

पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ISI के नए चीफ से मिलिए

बता दें कि अब बांग्लादेश सरकार ईस्ट पाकिस्तान की जगह बांग्लादेश वाले नए पिलर लगाना चाहती है। जिससे वे अपनी पुरानी यादों को भूल सके।

आपको बता दें कि भारत और पाकिस्तान सीमा पर लगे बॉर्डर पोस्ट की बीएसएफ देखभाल करती है, लेकिन अब तक भारत और बांग्लादेश सीमा पर लगे बॉर्डर पोस्ट संबंधित राज्य सर्वे से लेकर मेन्टेन्स करते थे, लेकिन अब मेघालय को छोड़कर सभी बॉर्डर पोस्ट की मेन्टेन्स का काम केंद्र सरकार ने बीएसएफ के जिम्मे दे दिया है।

अब महिलाओं के #MeToo मुहिम के खिलाफ इस नेता ने खोला मोर्चा!

बीएसएफ के एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार, "हमें केंद्र सरकार से बॉर्डर पिलर बदलने की इज़ाजत मिल गई है। पहले फेज के तहत भारत-बांग्लादेश सीमा के ईस्ट पकिस्तान के 31 पिलर बदले जाएंगे। हम असम के धुबरी, फ़लकता के 13 बॉर्डर पिलर को बदलने का काम अगले हफ़्ते से शुरू करेंगे और बाकी 18 पिलर बांग्लादेश की बीजीबी बदलेगी।"

अपनी ही मौत मर रहा हैं भारत का यह खूंखार आतंकवादी !

आपको बता दें कि करीब 49 साल बाद अब बांग्लादेश अपने देश से ईस्ट पाकिस्तान से संबंधित सारे निशान मिटाएगा।

loading...