Breaking News
  • चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने सुप्रीम कोर्ट में आज चार नए जजों को दिलाई शपथ
  • ह्यूस्टन में हाउडी मोदी कार्यक्रम की सफलता पर भड़का पाकिस्तान
  • आर्मी चीफ बिपिन रावत का बयान, पाकिस्तान ने बालाकोट में आतंकी कैंपों को फिर से सक्रिय कर दिया है
  • गृह मंत्री ने कहा कि कहा कि 2021 की जनगणना में मोबाइल एप का प्रयोग होगा

यूपी के आईएएस अधिकारियों के बाद अब देश के वरिष्ठ वकील पर भी सीबीआई का छापा, हेराफेरी का आरोप

नोएडा : अपने दूसरे शासनकाल में आने के बाद पीएम मोदी काफी एक्टिव हो गए है, वे जहां एक तरफ विश्व के वैश्विक मंच पर आतंक को लेकर पाकिस्तान को घेर रहे हैं तो वहीं अपने देश में छिपे उन कदाचारियों और भ्रष्टाचारियों के कई ठिकानों पर ताबड़तोड़ छापेमारी कर रहें है। जिससे पीएम मोदी एकबार फिर अपने उन वादों पर खड़े दिख रहें है, जिसमें उन्होंने कहा था कि वे भ्रष्टाचारियों पर नकेल कसेंगे।

इसी सिलसिले में आगे बढ़ते हुए CBI ने उन तमाम अधिकारियों पर नकेल कसना शुरू कर दिया है, जो इस तरह के अपराध में संलिप्त थे। चाहे वह आईएस अधिकारी हो या कोई वरिष्ठ वकील। बता दें कि गुरूवार को सीबीआई ने सुप्रीम कोर्ट की वरिष्ठ वकील इंदिरा जय सिंह और उनके पति आनंद ग्रोवर के ठिकानों पर ताबड़तोड़ छापेमारी की है। आपको बता दें कि इंदिरा और आनंद पर यह छापेमारी विदेशी फंड के लेनदेन में नियमों की अनदेखी करने के आरोप में हुआ है। सीबीआई ने ये छापेमारी आज सुबह तड़के दिल्ली और मुंबई के उनके कई ठिकानों पर की है।

दरअसल बात यह है कि सीबीआई ने कुछ दिन पहले ही एडवोकेट इंदिरा जय सिंह और आनंद ग्रोवर पर एफसीआरए यानी विदेशी अंशदान (विनियमन) अधिनियम के उल्लंघन के मामले में एफआईआर दर्ज की थी। इंदिरा और आनंद ‘लॉयर्स कलेक्टिव’ के नाम से एक NGO चलाते हैं। फिलहाल सीबीआई ‘लॉयर्स कलेक्टिव’ के कार्यालयों पर छापेमारी कर रही है।

loading...