Breaking News
  • मालेगांव: 7 फरवरी को तय हो सकते हैं साध्वी प्रज्ञा, पुरोहित के खिलाफ आरोप
  • इराक की राजधानी बगदाद में एक साथ हुए दो आत्‍मघाती बम हमलों में 38 लोगों की मौत
  • अफगानिस्तान से बर्मा तक, तिब्बत से श्रीलंका तक सबका डीएनए एक: भागवत
  • काबुल: भारतीय दूतावास में गिरा रॉकेट, किसी के हताहत होने की कोई ख़बर नहीं

तो अब आम आदमी पार्टी नहीं लड़ेगी चुनाव?

नई दिल्ली: आम आदमी पार्टी संयोजक और दिल्ली के सीएम अरविन्द केजरीवाल ने आगामी गुजरात और हिमाचल का विधानसभा चुनाव न लड़ने का फैसला लिया है। माना जा रहा है पार्टी और सरकार अभी फ़िलहाल दिल्ली पर ही ध्यान केन्द्रिक करना चाहती है। जिसको लेकर पार्टी ने यह फैसला लिया है।

बतादें कि आम आदमी पार्टी ने पिछले चुनावों में राष्ट्रीय स्तर पर अपनी पहचान बनाने के लिए खूब हाथ पैर मारे लेकिन पंजाब और गोवा के चुनाव में मन माफिक परिणाम न आने से पार्टी को झटका लगा है, साथ ही उससे बड़ा झटका दिल्ली विधानसभा उपचुनाव में पार्टी प्रत्याशी की करारी हार के बाद माना जा रहा है कि दिल्ली से आप का जनाधार खिसक रहा है। इससे पार्टी आलाकमान चिंतित है। इसी को देखते हुए आप ने हिमाचल और गुजरात के विधानसभा चुनावों से दूरी बनाने का निर्णय लिया है।

एक अखबार की रिपोर्ट की माने तो पार्टी अब सिर्फ दिल्ली पर फोकस करना चाहती है। फिलहाल पार्टी राज्य के उन नेताओं को समझाने की कोशिश में लगी है जो चुनाव लड़ने के पक्ष में थे। मालूम हो कि जून में राज्य प्रतिनिधत्व ने संगठन क्षमताओं की जमकर तारीफ की थी लेकिन पार्टी में निर्णय लेने वाली सर्वोच्य कमेटी पीएसी राज्य चुनाव लड़ने को लेकर दुविधा में है।

पार्टी के कुछ नेता राज्यों के विधानसभा चुनाव में चुनाव लड़ने के पक्ष में हैं, वहीँ कुछ नेता सिर्फ अभी दिल्ली पर फोकस करना चाहते हैं। ऐसे में पार्टी दुविधा में पड़ी है। हालांकि सूत्रों की माने तो आप आगामी गुजरात और हिमाचल के चुनाव से दूरी बना चुकी है। सीएम केजरीवाल और पार्टी अभी दिल्ली पर ही ध्यान देने के मूड में है। 

loading...