Breaking News

अब गंगा में डाला कचरा तो ठुकेगा हजारों का जुर्माना!

नई दिल्ली: गंगा को प्रदुषण से बचने के लिए एनजीटी ने बड़ा कदम उठाया है। NGT ने कहा है कि गंगा में कचरा फेंकने वालों पर पचर हजार का भारी भरकम जुरमाना लगाया जाएगा। NGT ने यह कदम गंगा के पानी की स्थित को देखते हुए उठाया है।

राष्ट्रीय ग्रीन ट्रिब्यूनल ने गंगा की अविरल धारा को मैला करने वालों के खिलाफ सख्त कदम उठाया है। गंगा नदी के आसपास डिवेलपमेंट के काम को लेकर नैशनल ग्रीन ट्राइब्यूनल ने बड़ा फैसला लिया है। NGT ने गंगा के आसपास के 100 मीटर के दायरे को नो डिवेलपमेंट जोन घोषित कर दिया गया है, जिसके बाद से अब ऐसे लोहों पर भारी भरकम जुरमाना लगाया जाएगा।

यह जोन उन्नाव से हरिद्वार कर माना जाएगा। एनजीटी का कहना है कि हरिद्वार से उन्नाव के बीच बह रही गंगा के आसपास के 500 मीटर के दायरे में किसी तरह का कचरा नहीं फेंका जाना चाहिए। साथ ही ऐसा करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई से निपटना होगा।

NGT ने गंगा की अविरल धारा को मैला होते देख चिंता पहले ही कई बार जाहिर कर चुका है। वहीँ अब NGT ने ऐसे लोगों पर पचास हजार रूपये का जुर्माना लगाने का फैसला लिया है जो गंगा में कचरा फेंकने और गंगा को गंदा करने पर आमादा हैं। NGT दोनों राज्य सरकारों को निर्देश दिया है कि उन्नाव और जाजमऊ के बीच चमड़े के कारखाने को जल्द ही स्थानांतरित किया जाए। इसके अलावा धार्मिक क्रियाकलापों पर भी दिशा निर्देश देने को कहा है।  

 

loading...