Breaking News
  • मंदी से निपटने के लिए सरकार ने किए बड़े ऐलान, ऑटो सेक्टर को होगा उत्थान
  • तीन देशों की यात्रा के दूसरे चरण में यूएई की राजधानी आबू धाबी पहुंचे मोदी
  • देश भर में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी की धूम, राष्ट्रपति कोविंद और पीएम मोदी ने दी शुभकामनाएं
  • 1st Test Day-2: भारत की पहली पारी 297 रनों पर सिमटी, रवींद्र जडेजा ने बनाए 58 रन

सरकार को झटका: राज्यसभा में नहीं पेश हो सका ट्रिपल तलाक़ बिल

नई दिल्ली: केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार द्वारा राज्यसभा में ट्रिपल तलाक पर सरकार को बड़ा झटका लगा है। शुक्रवार को मानसून सत्र के आखिरी इस बिल को पेश किये जाने की कोशिशें धरासायी हो गयी हैं।

बतादें कि आज 16वीं लोकसभा के आखिरी मानसून सत्र में केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार अपने सबसे महत्वपूर्ण तीन तलाक बिल को पेश कर उसे पास करवाने की कोशिकों को बड़ा झटका लगा है। शुक्रवार को सदन में हंगामे और आम सहमती न बन पाने के चलते यह बिल फिर से राज्यसभा में अटक गया है।

इतिहास में पहलीबार: राज्यसभा की कार्यवाही से हटाया गया पीएम मोदी का विवादित बयान

शुक्रवार को उपराष्ट्रपति और राज्यसभा के सभापति वेंकैया नायडू ने कहा कि, ट्रिपल तलाक बिल आज नहीं लाया जा सकता क्योंकि इसपर कोई भी आम सहमति नहीं बन रही है। संसद के मानसून सत्र के संशोधित तीन तलाक बिल को पेश कर पास करवाने की कोशिश हो रही थी, लेकिन कांग्रेस की अगुवाई में विपक्ष के एकजुटता ने इसका विरोध किया। विपक्ष के हंगामे और विरोध के आगे सरकार को हार माननी पड़ी। अब केंद्र की मोदी सरकार इसे अगले सत्र में पेश करेगी। शुक्रवार को राज्यसभा में ट्रिपल तलाक बिल पेश जाने को हंगामा होता रहा।

कांग्रेस सांसद का विवादित बयान

राज्यसभा में कांग्रेस सदस्य हुसैन दलवई ने राम और सीता पर विवादित बयान दे दिया, जिसके बाद सदन में जमकर हंगामा हुआ। दलवई ने कहा कि शक के आधार पर राम ने भी सीता को छोड़ा था।

आरुषि-हेमराज: हाईकोर्ट के फैसले के खिलाफ SC पहुंची सीबीआई

हर धर्म में पुरुषों का वर्चस्व है तो ऐसे में इस्लाम पर ही सवाल क्यों? वहीँ उनके इस बयान पर एनडीए सदस्यों ने उनसे माफ़ी मागने को कहा। इससे पहले संसद की कार्यवाही शुरू होते ही कांग्रेस ने राफेल का मुद्दा उठाया और जबरदस्त हंगामा किया। राफेल केबाद ट्रिपल तलाक भी जमकर हंगामा हुआ और सद की कार्यवाही को स्थगित करना पड़ा।

यह भी देखें-  

loading...