Breaking News
  • लोकसभा चुनाव 2019 के लिए भाजपा ने जारी किए 7 और उम्मीदवारों के नाम, दिल्ली से चार
  • श्रीलंका: आतंकियों ने चर्च सहित 8 जगहों को बनाया निशाना, कई विदेशी नागरिक भी मारे गए
  • श्रीलंका: सिलसिलेवार धमाकों में मरने वालों की संख्या 290, 400 ज्यादा लोग घायल
  • कोलकाता में बोले अमित शाह- बीजेपी की रैलियों को ममता सरकार इजाजत नहीं दे रही है

भारत की मुस्लिम महिलाओं ने रखी नई मांग, सुप्रीम कोर्ट से मांग रही हैं न्याय

नई दिल्ली: अब वो दिन दूर नहीं जब मुस्लिम महिलाएं भी मस्जिद जा सकेंगी? दरअसल, तीन तलाक के खिलाफ जंग जीतने के बाद मुस्लिम महिलाओं ने मस्जिदों में प्रवेश को लेकर भी मोर्चा खोल दिया है। देश के मस्जिदों में महिलाओं के प्रवेश और वहां नमाज पढ़ने पर लगे प्रतिबंध की परंपरा को खत्म किए जाने की मांग करते हुए सोमवार को एक याचिका दायर की गई है। जिसमें इस परंपरा को असंवैधानिक व अवैध करार दिए जाने का आग्रह किया गया है।

आपको बता दें कि इसस पहले मामले पर सुवाई करते हुए केरल हाईकोर्ट ने मुस्लिम महिलाओं के खिलाफ फैसला दिया था, जिसे अब देश की सबसे बड़ी अदालत में चुनौती दी गई है। बता दें कि केरल के सबरीमाला मंदिर में मासिक धर्म से गुजरने वाली हिंदू महिलाओं के प्रवेश पर लगी रोक हटने के बाद से ही मुस्लिम महिलाएं मस्जिदों में प्रवेश पर लगे बैन के खिलाफ मोर्चा खोलने के संकेत दिए थे।

मुस्लिम महिलाओं ने मस्जिदों में प्रवेश नहीं दिए जाने को लेकर केरल की सामाजिक कार्यकर्ता वीपी जुहरा की माने तो यह महिलाओं के नैतिक अधिकार और बराबरी के अधिकार का भी उल्लंघन है। इस परंपरा को भेदभावपूर्ण बताते हुए उन्होंने कहा था कि “सुन्नी मस्जिदों में महिलाओं के प्रवेश व नमाज पढ़ने पर रोह है, जबकि मोहम्मद साहब के समय में महिलाओं को मस्जिद में प्रवेश कर नमाज पढ़ने की इजाजत थी”।

loading...