Breaking News
  • MSG कंपनी के सीईओ सीपी अरोड़ा गिरफ्तार, हनीप्रीत को फरार करने का आरोप
  • नोटबंदी की बदौलत 2 लाख से ज्यादा फ़र्ज़ी कंपनियां हुई बंद: पीएम
  • राष्ट्रीय आयुर्वेद दिवस के अवसर पर अखिल भारतीय आयुर्वेद संस्थान का लोकार्पण
  • स्पेन,पुर्तगाल में लगी आग से 35 लोग मारे गए, स्थिति अभी भी भयावह

जय श्रीराम बोलने वाले नीतीश के मंत्री का निकाह भी टूट गया..

पटना: जय श्री राम का नारा लगाने वाले नीतीश कुमार के मंत्री खुर्शीद को लेकर फतवा जारी किया गया है, हालांकि इसके बाद भी खुर्शीद अपने बयान पर कायम हैं, उन्होंने कहा कि ‘जय श्रीराम बोलने से कल भी पीछे नहीं हटा था, आज भी पीछे नहीं हटूंगा और कभी नहीं हटूंगा’।

Image- ABP

बता दें कि पिछले दिनों खुर्शीद ने बिहार में नीतीश कुमार द्वारा महागठबंन से अलग होकर भाजपा के साथ नई सरकार के गठन के बाद बिहार विधानसभा में शक्ति परीक्षण के दौरान सदन के अंदर ‘जय श्रीराम’ का नारा लगाया था और फिर इसके बाद सदन के बाहर मीडिया से बातचीत के दौरान भी ‘जय श्रीराम’ का नारा लगाते हुए कहा था कि ‘अगर जय श्रीराम बोलने से बिहर की जनता को फायदा होता है तो हम बोलते रहेंगे, उन्होंने यहां तक कहा था कि सुबह-शाम जय श्रीराम का नाम लेते रहेंगें।

उन्होंने कहा कि धर्म और भगवान आत्मा में बसते है, मैं लगभग सभी धार्मिक स्थोलों पर जा चुका हूं। लेकिन खुर्शीद की यह बात कुछ लोगों को समझ नई आई, और अब इमारत शरिया के मुफ्ती ने खुर्शीद के खिलाफ फतवा तक जारी कर दिया है। फतवा जारी कर उन्हें इस्लाम से बेदखल कर दिया गया है साथ ही फतवे के आधार पर उनका निकाह टूटा हुआ माना गया है।

फतवे में कहा गया है कि गलती से तौबा करने के बाद उन्हें दोबारा करना होगा निकाह। मुफ्ती ने फतवा जारी कर मंत्री खुर्शीद पर सियासत के ईमान बेचने का आरोप लगाया है। बता दें कि जयश्री राम बोलते हुए उन्होंने अपने हाथ में बंधे रक्षासूत्र को दिखाते हुए कहा था कि धर्म आत्मा में होती है, मैंने लगभग सभी धार्मिक स्थलों पर माथा टेक चुका हूं और मैं सभी धर्मों को मानता हूं।

खुर्शीद ने कहा कि हमारे इस्लाम में नफरत करने की कोई जगह नहीं है, इस्लाम की बुनियाद मोबब्बत और प्रेम का होता है। मैं राम के साथ रहिम को भी पूजता हूं, उन्होंने कहा खुदा आत्मा में बसते हैं। बता दें कि कल तक बीजेपी को कोसने वाले ऐसे कई नेता है जो आज बीजीपे के साथ मिलने के बाद राजद नेताओं पर हमला बोल रहे हैं।

loading...