Breaking News
  • कश्मीर घाटी, लद्दाख में कड़ाके की शीतलहर जारी
  • पेट्रोल-डीजल के दाम में बढ़ोतरी, कच्चे तेल में नरमी
  • लोकसभा में सत्ता पक्ष, विपक्ष का हंगामा
  • पर्थ टेस्ट : 146 रन से हारा भारत, आस्ट्रेलिया ने की सीरीज में 1-1 से बराबरी
  • चक्रवाती तूफान Pethai Cyclone आज आंध्र प्रदेश के तट से टकराएगा

4 जजों के समर्थन में ममता- PM मोदी पर लगाया बड़ा आरोप

नई दिल्ली: देश की सबसे बड़ी अदाल सुप्रीम कोर्ट के चार सीनियर जजों ने आज भारत के चीफ जस्टिस के खिलाफ गंभीर आरोप लगाते हुए मोर्चा खोल दिया। तो इधर इस मामले पर अब राजनीतिक दलों की प्रतिक्रियाएं भी आ रही है। इस मामले पर बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्ज ने ट्विट करते हुए केंद्र की मोदी सरकार पर बड़ा हमला किया है।

दरअसल सुप्रीम कोर्ट में चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा के बाद चार सबसे बड़े जज न्यायमूर्ति जे चेलमेश्वर, न्यायमूर्ति रंजन गोगोई, न्यायमूर्ति एम बी लोकुर और न्यायमूर्ति कुरियन जोसेफ ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि देश का लोकतंत्र खतरे में हैं। जजों ने चीफ जस्टिस पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा वह अदालत की परंपरा को तोड़ते हुए अपनी मनमानी कर रहे हैं।

भारत के चीफ जस्टिस पर लगे ये गंभीर आरोप- जाने जजों की PC में क्या हुआ...

जजों नें खुले तौर पर चीफ जस्टिस पर आरपो लगाया कि वह सरकार से जुड़े मामले और अन्य कई तरह के मामलों को अदालत के जुनियर जजों के पास भेज रहे हैं। बता दें कि जजों की बात को समझने से ऐसा प्रतीत होता है कि चीफ जस्टिस और केंद्र सरकार के बीच साठगांठ चल रही है और चीफ जस्टिस सरकार के हीतों के लिए ऐसा कर रहे हैं।

मीडिया पर केस करने वाले सावधान- जाने लें सुप्रीम कोर्टी की नसीहत...

तो वहीं मामले पर बंगाल की मुख्यमंत्री ने केंद्र की मोदी सरकार पर सीधा हमला करते हुए कहा कि सुप्रीम कोर्ट के बड़े जजों को इस तरह अपनी बात रखना देश और जनता के लिए दुर्भाग्यपूर्ण है। ममता ने कहा कि कोर्ट और मीडिया लोकतंत्र के रक्षक है, लेकिन इन जगहों पर केंद्र की हस्ताक्षेप लोकतंत्र के लिए बड़ा खतरा है।

सांप और कुत्ते की लड़ाई में 24 साल के युवक की मौत!

loading...