Breaking News
  • एशियाई एथलेक्टिस चैंपियनशिप: भारत की PUChitra ने 1500 मी. रेस में जीता स्वर्ण
  • एशियाई एथलेक्टिस चैंपियनशिप: 200 मी. रेस में दुत्ती चंद ने जीता कांस्य
  • दो दिन के वाराणसी दौरे पर प्रधानमंत्री मोदी, 25 अप्रैल को भव्य रोड शो 26 को नामांकन
  • जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ में 2 आतंकी ढेर

45 दिन में कितना बदला मध्य प्रदेश, सीएम को चाहिए 55 दिन और

भोपाल: मध्य प्रदेश की सत्ता पर काबिज कांग्रेस सरकार के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने शुक्रवार को बड़ा दावा करते हुए कहा कि, जब कांग्रेस सत्ता में आई तब कई बड़ी चुनौतियां थीं। प्रदेश की तिजोरी खाली थी, व्यवस्था पूरी तरह चौपट थी, दुष्कर्म, बेरोजगारी, किसान आत्महत्या के मामले में राज्य नंबर एक पर था।

उन्होंने कहा कि, इन चुनौतियों से निपटने के लिए कांग्रेस ने पहल की है। अभी 45 दिन ही हुए हैं,  100 दिन पूरे होने दीजिए स्थितियां बदल जाएंगी। आपको बता दें कि सीएम ने यह बयान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की मौजूदगी में दिया है।

राहुल गांधी भारत के भावी प्रधानमंत्री, कांग्रेसियों में खुशी का ठिकाना…

गौर हो कि कांग्रेस अध्यक्ष शुक्रवार को मध्य प्रदेश दौरे पर हैं। यहां पार्टी की ओर से जम्बूरी मैदान में आभार सम्मेलन का आयोजन किया। जिसमें राहुल गांधी और कमलनाथ के अलावा अन्य कई पार्टी नेता व कार्यकर्ता शामिल हुए।

सभा को संबोधित करते हुए सीएम कमलनाथ ने कहा कि, मंत्रिमंडल को शपथ लिए 45 दिन हुए हैं। इनमें से आठ दिन बाहर रहा और 37 दिन भोपाल में रहा। इस अवधि में किसानों के कर्ज माफ किए गए, युवाओं को रोजगार की पहल की, कन्या विवाह योजना की रकम बढ़ाई।

कर्नाटक बजट: शायद ही किसी CM के साथ ऐसा हुआ होगा

किसानों की कर्जमाफी का जिक्र करते हुए कमलनाथ ने कहा कि, राज्य के 45 लाख किसानों का कर्ज माफ होगा। इनमें से 32 लाख छोटे किसान होंगे, जिनकी जमीन दो हेक्टेयर तक है। उन्होंने कहा कि, इंदिरा गृह ज्योति योजना में 100 यूनिट बिजली की खपत पर 200 रुपये देने होते थे, अब 100 यूनिट पर 100 रुपये ही देने होंगे। इससे 62 लाख उपभोक्ताओं को लाभ मिलेगा। इसी तरह किसानों को 1,400 रुपये के स्थान पर 700 रुपये ही देने होंगे।

सामान्य श्रेणी के गरीबों को 10 फीसदी आरक्षण पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला

loading...