Breaking News
  • सोनभद्र जाने पर अड़ी प्रियंका गांधी, धरने का दूसरा दिन
  • असम और बिहार में बाढ़ से 150 लोगों की गई जान, 1 करोड़ से अधिक लोग प्रभावित
  • इलाहाबाद हाइकोर्ट ने पीएम मोदी को जारी किया नोटिस, 21 अगस्त को सुनवाई
  • कर्नाटक पर फैसले के लिए अब सोमवार का इंतजार

संसद में रवि किशन ने गाया ऐसा गाना, रोकने पर मजबूर हो गए स्पीकर...

नई दिल्ली: अपने अनोखे अंदाज से संसद में पहले ही दिन अपनी छाप छोड़ चुके अभिनेता से नेता बने रवि किशन ने लोकसभा में उस वक्त बखेड़ा खड़ा कर दिया जब अपनी बात कहते हुए फिल्मी दुनिया में रम गए। दरअसल, उत्तर प्रदेश की गोरखपुर लोकसभा सीट से जीतकर कर संसद पहुंचे बीजेपी सांसद रवि किशन ने शून्यकाल के दौरान भोजपुरी भाषा को आठवीं अनुसूची में शामिल करने की बात कहते हुए अपनी गायन कला का प्रदर्शन करने लगे।

अपनी बात कहते हुए सांसद महोदय शायद यह भूल गए कि वह फिल्मी सेट पर नहीं बल्कि पवित्र संसद में मौजूद है। उनकी अकल तब ठिकाने आई जब लोकसभा स्पीकार ने उन्हें ऐसा करने से मना किया। दरअसल, भोजपुरी को संविधान की आठवी अनुसूची में शामिल करने की मांग करते हुए रवि किशन भोजपुरी गाना गाने लगे। जिससे नाराज स्पीकर ने कहा कि आप सिर्फ अपनी बात कहिए।

बिरला की बात सुनकर रवि किशन ने गीत गाना बंद कर दिया और अपनी बात कहने लगे। रवि किशन ने कहा कि लोकसभा चुनाव के प्रचार के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बिहार की एक सभा में भोजपुरी में जनता का अभिवादन किया तो लोगों को लगा अब भोजपुरी को आठवीं अनुसूची में शामिल कर लिया जाएगा। ऐसे में मेरा सिर्फ इतना कहना है कि भोजपुरी को आठवीं अनुसूची में शामिल किया जाए।

अपनी मांग पर तर्क पेश करते हुए किशन ने कहा कि देश में करीब 25 करोड़ लोग भोजपुरी बोलते और समझते हैं। इतना ही नहीं मॉरीशस में इसे दूसरी राष्ट्रभाषा का दर्जा मिला हुआ है, जबकि कई कैरेबियाई देशों में भोजपुरी बोली जाती है। हालांकि देखने वाली बात ये हैं कि उनकी बात का क्या असर होता है। क्यां भोजपुरी भाषा संविधान की आठवी अनुसूची में शामिल होती है या नहीं ये अब भी एक लाजवाब सवाल है।

loading...