Breaking News
  • छत्तीसगढ विधानसभा चुनाव के दूसरे और आखिरी चरण के लिए मतदान
  • CBI विवाद: SC में सीवीसी की रिपोर्ट और निदेशक वर्मा के जवाब की सुनवाई 29 नवंबर तक टाली
  • महाराष्ट्र: पुलगांव में सेना के हथियार डिपो में धमाका, 4 की मौत
  • जम्मू-कश्मीर: शोपियां में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़, 4 आतंकी ढेर, एक जवान शहीद, दो घायल

जम्मू-कश्मीर : स्थानीय प्रदर्शनकारियों ने फेंके सेना के काफिले पर पत्थर, 22 साल के जवान की मौत

जम्मू-कश्मीर : अनंतनाग में स्थानीय प्रदर्शनकारियों द्वारा सेना के काफिले पर पत्थराव किया गया। जिस पथराव में एक भारतीय जवान घायल हो गया था। चोट गहरी होने के कारण खून रूकने का नाम नहीं ले रहा था और अंत में वह जवान अपनी ज़िदगी की आखिरी लड़ाई हार गया। इस जवान की उम्र महज 22 वर्ष थी। जिसने 2016 में आर्मी ज्वाइन किया था, उसकी ख्वाहिश थी कि वह देश की सेवा करें। लेकिन वह अपने ही देश के लोगों के हाथों का शिकार हो गया। आपको बता दें कि सेना पर यह पथराव अनंतनाग बाइपास के हुआ था। इसकी जानकारी स्वयं सेना के एक प्रवक्ता दी है।  

नारी सम्मान’ भूला ‘योगी का विधायक’, व्यापारी को दी बेटी से बलात्कार की धमकी

  

सूत्रों के अनुसार, यह मामला गुरुवार देर शाम का है। प्रदर्शनकारियों ने अनंतनाग बाइपास के पास से गुजर रहे सेना के काफिले पर पथराव किया। इस दौरान एक पत्थर 22 साल के जवान राजेंद्र सिंह के सिर पर लगा। चोट गहरी थी और खून रूक नहीं रहा था।

बारामुला के बाद अब सोपोर में भी आतंकियों ने भारतीय जवानों पर छिपकर किया हमला, 2 आतंकी ढेर, 1 जवान शहीद

 

बीजेपी और जेडीयू के बीच सीटों के बंटवारे का मसला सुलझा, शाह ने कहा ...

जवान को तुरंत अस्पताल पहुंचाया गया, जहां इलाज के दौरान उन्होंने दम तोड़ दिया। जम्मू-कश्मीर पुलिस का कहना है कि इस मामले में सेना ने अभी तक कोई एफआईआर नहीं दर्ज कराई है। प्रवक्ता ने बताया कि जवान राजेंद्र सिंह मूल रूप से उत्तराखंड के पिथौरागढ़ के गांव बेदिना के रहने वाले थे। उन्होंने 2016 में आर्मी ज्वॉइन की थी। उनका शव परिवार को सौंप दिया गया है।

गिरफ्तारी के बाद तुरंत रिहा हुए राहुल, लगाएं, ‘चौकीदार चोर’ के नारें

loading...