Breaking News
  • मंदी से निपटने के लिए सरकार ने किए बड़े ऐलान, ऑटो सेक्टर को होगा उत्थान
  • तीन देशों की यात्रा के दूसरे चरण में यूएई की राजधानी आबू धाबी पहुंचे मोदी
  • देश भर में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी की धूम, राष्ट्रपति कोविंद और पीएम मोदी ने दी शुभकामनाएं
  • 1st Test Day-2: भारत की पहली पारी 297 रनों पर सिमटी, रवींद्र जडेजा ने बनाए 58 रन

नो हेलमेट नो एंट्री की उड़ी धज्जियां, चार दिन पहले बनाए थे...

नोएडा : आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर लगातार हादसों के बाद आखिरकार सरकार जाग ही गई। इन हादसों पर नियंत्रण के लिए सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने कई कड़े नियम बनाएं। जिसका उल्लंघन करने पर कड़े दंड का प्रावधान किया गया। लेकिन सरकार के इन कड़े नियमों के बाद भी जनता अपनी हरकतो से बाज नहीं आ रहीं और वो आज भी इन नियमों को तांक पर रखकर अपनी जान पर दांव लगा रहे है।

सरकार के इस नियमों की धज्जियां उड़ाने का नजारा आगरा लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर आगरा से 24 कि.मी. दूर स्थित टोल पर देखने को मिला। जहां एक्सप्रेस-वे पर बिना हेलमेट के दुपहिया वाहन चालक फर्राटा भर रहे थे। वहीं कई वाहन चालक ट्रिपलिंग करते दिखें। तो दूसरी तरफ दुपहिया चालको के साथ ही कार सवार बिना सीट बेल्ट के कार चलाते हुए नजर आएं।

हालांकि, जब एक्सप्रेसवे कर्मियों से इस बारे में सवाल किया गया तो उनका कहना था कि बिना हेलमेट किसी को आगे नहीं जाने दिया जा रहा है, लेकिन जो नजारा देखने को मिला, उससे टोल कर्मी के बयान की सारी सच्चाई दिख गई।

आपको बता दें कि हाल ही में उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम की बस हादसे का शिकार हो गई थी, जिसमे लगभग 29 यात्री काल के गाल में समा गए। एक्सप्रेस-वे पर हुए इस भीषण हादसे के बाद योगी सरकार और आगरा लखनऊ एक्सप्रेसवे की कार्यदायी संस्था यूपीडा ने आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर नो हेलमेट नो एंट्री नियम लागू कर दिया था। जिसके लागू होने के बाद भी कई दो पहिया वाहन चालक बिना हेलमेट के प्रवेश कर गए। इन दृश्यों को देखकर तो यहीं लगता है, कि सरकार ऐसे चाहे कितने भी नियम क्यों ना बना दे, मगर उसका पालन कराने वाले लोग ही लापरवाही बरतेगे, तो कैसे इन दुर्घटनाओं पर रोक लगेगी।

loading...