Breaking News
  • देश के कई राज्यों में बाढ़ का कहर, सेना और एनडीआरएफ की टीमें बचावा कार्य में जुटी हैं
  • बिहार: रात भर चला ड्रामा, तेजस्वी बोले- ‘हमें मिले सरकार बनाने का मौका, ये तानाशाही है’
  • बिहार: महागठबंध से अलग हुए नीतीश- BJP के साथ बनाई नई सरकार, शपथ ग्रहण आज
  • रामेश्वरम में डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम मेमोरियल का उद्घाटन- पीएम मोदी की मौजूदगी में

‘बापे पूत परापत घोड़ा, बहुत नहीं तो थोड़ा थोड़ा’- लालू के लाल का नया कारनामा..


पटना: रेलवे टेंडर घोटाले सहित अन्य कई मामलों में बिहार की सत्ताधारी महागठबंधन की सबसे बड़ी पार्टी RJD सुप्रीमो लालू यादव के साथ उनका पूरा परिवार बुरी तरह से फंस चुका है। सीबीआई और ईडी से बचने के लिए लालू परिवार तरह-तरह के हथकंडे अपने में लगे हैं।

आपको बता दें कि लालू यादव का दामन हमेशा से दागदार रहा है, उन्होंने सरकारी खजाने और गरीबो के पैसों को लूट कर अपना अपने परिवार के लगभग सभी सदस्यों को मालामाल कर दिया लेकिन अगर इस से संबंधित कोई सवाल पूछा जाए तो यो लोग निहत्थे मीडियाकर्मियों की पिटाई करने से भी बाज नहीं आते।

दरअसल लालू के लाल तेजस्वी यादव ने आज मीडियाकर्मियीं के सवाल पूछने पर भड़क गये, इस दौरान तेजस्वी के समर्थकों ने मीडिया के साथ मार-पीट भी कर दी। तेजस्वी यादव ने मीडिया के एक तबके को मोदी परस्त और गुंडा तक कह डाला।

कहते हैं कि बाप के गुण बेटे में नहीं जायेंगे तो भला कहाँ जायेंगे। ऐसे ही आरजेडी प्रमुख लालू यादव के सारे गुण उनके बेटे तेजस्वी यदाव में देखेने को मिलने लगे हैं। जिस उम्र के बच्चे बैट-बल्ला लेकर मैच खेलने की चाहत रखते हो उस उम्र के तेजस्वी यादव घोटाले और दलाली में शामिल हो गये थे। आरजेडी प्रमुख लालू यादव के बेटे भी इस समय लालू के नक़्शे कदम पर ही चल रहे हैं, बाप की तरह ही लालू के परिवार ने होश संभालते ही अपने पिता के बिजनेस को आगे बढाने का बीड़ा उठा लिया है

बेटे-बेटी, बेटी का पति और न जाने कौन कौन इस बिजनेस में साथी बन गया। जैसे लालू यादव भी भ्रष्टाचार और घोटाला करने के बाद सबूत न छोड़ने की कोशिश करते थे, ठीक वैसे ही उनका परिवार भी कर रहा है। लालू के बेटे और बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव पर आरोप लगे हैं, जिपर सीबीआई ने उनके खिलाफ केस भी दर्ज कर लिया है। ऐसे में सवालों से बचने के लिए तेजस्वी यादव ने भी अपने पिता लालू का तरिका अपना लिया है कि सवाल पूछने वाले का मुंह बंद करवा दो।

आज भी कुछ ऐसा ही देखने को मिला जब तेजस्वी के सुरक्षाकर्मियों और समर्थकों ने सवाल पूछने पर मीडियाकर्मियों पर हमला बोल दिया। मामला तब का है जब तेजस्वी यादव कैबिनेट की बैठक से बाहर निकल रहे थे। मीडियाकर्मियों ने तेजस्वी से इस्तीफे से जुड़ा सवाल कर दिया जिससे तेजस्वी यादव के सुरक्षा गार्ड और समर्थक भड़क उठे और मीडियाकर्मियों से हाथापाई करने लगे। सी दौरान तेजस्वी ने खुद को पाक-साफ़ बताते हुए मीडिया मोदी परस्त और गुंडा बता दिया।

ऐसे ही लालू यादव ने भी मीडिया पर भड़ास निकाली थी, जब उनसे शहाबुद्दीन से जुड़ा सवाल किया गया था। फिलहाल मीडिया का काम ही है सवाल करना। यहाँ जवाब देने न देना तेजस्वी और लालू जैसे नेताओं ऊपर निर्भर करता है कि वह जवाब दें या न दें, लेकिन जनता को इन सवालों के जवाब देने ही होंगे।

loading...