Breaking News
  • मोदी की बंपर जीत पर राहुल गांधी ने दी शुभकामनाएं
  • अमेठी सीट से हारे राहुल गांधी, वायनाड से मिली जीत
  • प्रियंका गांधी के साथ कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक में पहुंचे राहुल गांधी
  • राहुल गांधी के इस्तीफे पर सस्पेंस बरकरार
  • मां से आशीर्वाद लेने के लिए कल गुजरात जाएंगे मोदी
  • सूरत अग्निकांड में अब तक 21 की मौत, 3 के खिलाफ FIR दर्ज
  • चार धाम यात्रा: छह महिने के बाद खुले केदारनाथ धाम के कपाट, कल खुलेंगे बद्रीनाथ के कपाट
  • वो (ममता) अब मेरे लिए पत्थरों और थप्पड़ों की बात करती हैं: मोदी
  • पश्चिम बंगाल के बांकुरा में पीएम मोदी की चुनावी रैली, ममता पर बोला हमला
  • लोकसभा चुनाव 2019: NDA को प्रचंड बहुमत, 300 से अधिक सीटों पर बीजेपी की जीत
  • 24 मई: आज भंग हो सकती है 16वीं लोकसभा, पीएम मोदी की अध्यक्षता में केन्‍द्रीय मंत्रिमंडल की बैठक

पीएचडी की डिग्री कम्पलीट होते ही खालिद ने कसा मोदी पर तंज, कहा मोदी साहब ...

नई दिल्ली : 'अफजल तेरे खून से इंकलाब आएगा। अफजल हम शर्मिंदा हैं, तेरे कातिल जिंदा हैं। भारत तेरे टुकड़े होंगे। इंशाअल्लाह, इंशाअल्लाह। ये वहीं नारें है जो आज से करीब तीन साल पहले यानी 2016 में देश के सबसे बड़े विश्वविद्यालय जेएनयू में लगाये गये थें। वो भी एक आतंकी अफजल गुरू की याद में। जिसने संसद पर हमला किया था। काफी जद्दोजहद के बाद यह भारतीय सैनिकों के कब्जे में आया, जिसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने इस केस की सुनवाई में अफजल को फांसी दी। इस हमले में न जाने कितन मांओं के गोदें सूने हो गए, कितनी बहनें अपने भाई से सदा के लिए जुदा हो गए।

और ऐसे आतंकी के लिए इस तरह के नारें लगना कहीं न कहीं जेएनयू के माहौल पर प्रश्न उठाता है। आपको बता दें कि साल 2016 में संसद पर हमले के दोषी अफजल गुरु की याद में एक कार्यक्रम के दौरान राष्ट्रविरोधी नारे लगे थे। जिसमें कन्हैया कुमार, उमर खालिद और अनिर्बन भट्टाचार्य को गिरफ्तार किया गया था। लेकिन बाद में वे जमानत पर रिहा हो गए। इस घटना के बाद देश में जबरदस्त आक्रोश देखने को मिला, संसद से लेकर सड़क तक जबरदस्त राजनीतिक बवाल खड़े हुए।

 

लेकिन यह सब बवाल तब शांत हो गया, जब इस घटना से संबंधित कोई भी पुख्ता सुबूत नहीं मिले। फिर भी ये टुकड़े-टुकड़े गैंग कहां शांत रहने वाले थे, इन्होंने देश के संविधान का जबरदस्त फायदा उठाया। कन्हैया जहां इस देश विरोधी गतिविधि से पॉप्युलर होकर राजनीति जगत में इंट्री कर गया। वहीं कन्हैया के साथ-साथ उमर खालिद ने भी पीएचडी की डिग्री हासिल की। इस डिग्री को हासिल करते हुए खालिद ने पीएम मोदी पर तंज कसते हुए कहा कि 'मोदी साहब, हमने तो टैक्सपेयर्स का हिसाब चुकता किया ! आपने ?

पीएचडी पूरी होने पर उमर खालिद ने डॉक्टर संगीता सेनगुप्ता, प्रोफेसर प्रभु महापात्रा और प्रोफेसर रोहन डिसूजा को स्पेशल थैंक्स कहा। साथ ही उन्होंने बीते सालों में उनके साथ खड़े रहने वालों का आभार जताया।

loading...