Breaking News
  • बाढ़ और चक्रवात के खतरे में आने वाले ज़िलों में स्वंयसेवकों के प्रशिक्षण के लिए भी 'आपदा मित्र' नाम की पहल की गई है: पीएम
  • पीएम मोदी ने वैज्ञानिकों से आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की तकनीक को उपयोगी बनाने का आग्रह किया
  • विदेश सचिव विजय गोखले ने की चीन के वित्त मंत्री से मुलाकात, द्विपक्षीय एजेंडे पर हुई चर्चा
  • मन की बात कार्यक्रम के 41वें संस्करण में बोले पीएम मोदी
  • 54 साल की उम्र में बॉलीवुड एक्ट्रेस श्रीदेवी का निधन
  • भारत की Aruna Reddy ने मेलबर्न Gymnastics World Cup में कांस्य पदक जिता

मोदी वाले ऐड पर पेटीएम फाउंडर ने केजरीवाल को दिया करारा जवाब…

NEW DELHI:- मंगलवार आधी रात से नोट बैन होने के बाद अगले दिन ऑनलाइन शॉपिंग प्लैटफॉर्म पेटीएम का पीएम मोदी की तस्वीर के साथ एक विज्ञापन आया था। इसमें नोट बैन होने के फैसले का स्वागत किया गया था। फैसले के अगले ही दिन विज्ञापन आने को लेकर सोशल मीडिया में सवाल खड़े हो गए थे।  

वकील प्रशांत भूषण ने भी इस पर ट्वीट करके पेटीएम को पहल से ही सरकार के फैसले की जानकारी होने का सवाल पूछा था। पेटीएम के अलावा फ्रीचार्ज, ओला और स्नैपडील ने भी कैश फ्री टांजेक्शन के फुल पेज विज्ञापन दिये थे।

पेटीएम के फाउंडर ने दिया जवाब

अब इन विज्ञापनों पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सवाल किए हैं। उन्होंने अपने ट्विटर पर अकाउंट पर लिखा,'पीएम मोदी की घोषणा से सबसे ज्यादा फायदा पेटीएम को हुआ है। अगले दिन पीएम की तस्वीर विज्ञापनों में देखने को मिली. मिस्टर पीएम, डील क्या है?'

केजरीवाल ने दूसरी ट्वीट में लिखा, ‘बेहद शर्मनाक. क्या लोग चाहते हैं कि उनके पीएम प्राइवेट कंपनियों के लिए मॉडलिंग करें। कल को अगर ये कंपनियां कुछ गलत करती हैं तो इनके खिलाफ कार्रवाई कौन करेगा?’ हालांकि, फिर पेटीएम के फाउंडर विजय शेखर ने केजरीवाल को तुरंत जवाब दिया और कहा कि 'डियर सर, सबसे बड़ा फायदा देश को होगा। हम बस एक टेक स्टार्टअप हैं जो फाइनैंशल इन्क्लूजन में मदद कर और भारत को प्राउड करना चाहते हैं।'

loading...