Breaking News
  • कश्मीर घाटी, लद्दाख में कड़ाके की शीतलहर जारी
  • पेट्रोल-डीजल के दाम में बढ़ोतरी, कच्चे तेल में नरमी
  • लोकसभा में सत्ता पक्ष, विपक्ष का हंगामा
  • पर्थ टेस्ट : 146 रन से हारा भारत, आस्ट्रेलिया ने की सीरीज में 1-1 से बराबरी
  • चक्रवाती तूफान Pethai Cyclone आज आंध्र प्रदेश के तट से टकराएगा

हैरान कर देने वाला खुलासा, भारत के खिलाफ PAK का ‘गुप्त ऑपरेशन है करतारपुर कॉरिडोर’

नई दिल्ली: हाल ही में भारत और पाकिस्तान की सरकारों ने करतारपुर कॉरिडोर का शिलान्यास किया है। लेकिन अब करतारपुर कॉरिडोर को लेकर पाकिस्तान की नापाक साजिश का खुलासा हुआ है। आपको बता दें कि करतारपुर में विश्व प्रसिद्ध गुरुद्वारा है, जिसकी स्थापना सिख गुरु नानक देव जी ने 1522 में किया था। ऐसी मान्यता है कि अपने जीवन के अंतिम समय में गुरु नानक देव यहीं थे।

लिहाजा यह स्थान गुरु नानक देव के भक्तों के लिए काफी महत्व रखता है। साल 1947 में भारत-पाकिस्तान बंटवारे के बाद करतारपुर पाकिस्तान के हिस्से में आ गया जो अब भी अपने स्थान पर है। लेकिन समय के साथ-साथ भारत-पाकिस्तान के बीच दुश्मनी की खाई लंबी होती गई और भारत में रहने वाले नानक के भक्तों को उनके अधिकार से वंचित कर दिया गया।

पाकिस्तानी विदेश मंत्री कुरैशी का बड़ा बयान, कहा इमरान की गुगली में फं…

भारत-पाकिस्तान के बीच करतारपुर कॉरिडोर का मसला काफी पुराना है। लेकिन हाल के दिनों में अचानक ऐसा क्या हुआ की पाकिस्तान को भारत के प्रति और खास सिख समुदाय के लोगों के लिए प्यार उमड़ा? आपकी जानकारी के लिए बता दें कि छह महीने के अंदर करतापुर कॉरिडोर का काम पूरा करने की बात की जा रही है। लेकिन इससे पहले एक बड़ा खुलासा हुआ है कि पाकिस्तान करतारपुर की आड़ में भारत के खिलाफ षड्यंत्र कर रहा है।

सूत्रों के हवाले से पता चला है कि करतारपुर की आड़ में पाकिस्तानी ISI खुफिया मिशन चला रहा है। जिसके तहत भारत के सिखों को भारत के खिलाफ भड़का कर पंजाब में खालिस्तानी समर्थकों को फिर से जिंदा कर भारत में हिंसा की आग लगाना चाहता है। आपको बता दें कि जब पाकिस्तानी प्रधानमंत्री करतापुर में शिलान्यास करने आए तब एक खालिस्तान अलगाववादी नेता गोपाल सिंह चावला की तस्वीर सामने आई, जो पाकिस्तानी सेना प्रमुख के साथ बातचीत कर रहा था।

इमरान ने किया करतारपुर कॉरिडोर का शिलान्यास, फैन हुए सिद्धू ने दिया बड…

इतना ही नहीं खालिस्तान अलगाववादी नेता की और तस्वीर भी सामने आई जिसमें वह कांग्रेसी नेता और पंजाब सरकार में मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू के साथ भी दिख रहा था। वहीं करतारपुर कॉरिडोर को लेकर सिद्धू ने कई बार कहा कि इसके साथ 12 करोड़ पंजाबियों की आस्था जुड़ी है। जिसपर रक्षा विशेषज्ञ का मानना है कि सिद्धू पाकिस्तान की जाल में पूरी तरह से फंस गए हैं, जो पाकिस्तान चाहता था वहीं सिद्धू कर रहे हैं।

रक्षा विशेषज्ञ ने साफ कहा कि करतारपुर के साथ लगाव सिर्फ 12 करोड़ पंजाबियों का नहीं बल्कि 130 करोड़ भारतीय का है। वहीं सूत्रों का दावा है कि, गुरुद्वारा करतारपुर साहिब के जरिए पाकिस्तान सिख समुदाय की भवानाओं से खेलना चाहता है। आने वाले दिनों में पाकिस्तान इसका फायदा उठाएगा। पाकिस्तान का मानना है कि इस कॉरिडर के खुलने से ज्यादा से ज्यादा सिख श्रद्धालु भारत से पाकिस्तान आएंगे और पाकिस्तान धर्म के नाम पर विदेशी फंड बटोर सकेगा। इस बात जिक्र पाकिस्तानी विदेश मंत्री ने भी किया है।

मुंबई हमले के मास्टरमाइंड हाफिज सईद के करीबी के साथ सिद्धू ने खिंचाई फ…

सिर्फ इतना ही नहीं बल्कि करतारपुर कॉरिडोर की आड़ में आने वाले समय में पाकिस्तान भारत पर दबाव बानाने का भी काम करेगा। सूत्रों के अनुसार, करतारपुर कॉरिडोर खुलने के बाद पाकिस्तान भारत से रावी नदी से ज्यादा से ज्यादा पानी की मांग कर सकता है और इसके लिए पाकिस्तान सिख समुदाय की भावनाओं को भारत के खिलाफ हथियार की तरह इस्तेमाल करेगा।

loading...