Breaking News
  • नंदा देवी शिखर के पास ITBP को 7 पर्वतारोहियों के शव मिले
  • हार के बाद अखिलेश-मुलायम पर भड़की मायावती
  • BMC ने CM देवेंद्र फडणवीस के बंगले को घोषित किया डिफॉल्टर
  • संसद के दोनों सदनों में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव आज
  • बांग्लादेश में ट्रेन हादसे में 4 की मौत, 150 से ज्यादा घायल

क्या अमेठी में स्नाइपर के निशाने पर थे राहुल गांधी, पड़ताल में हुआ हैरान कर देने वाला खुलासा!

नई दिल्ली: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की सुरक्षा के मामले पर जमकर राजनीति चल रही है। हालांकि इस मामले में कुछ ऐसे तथ्य सामने आए हैं जिसे जानकर आप हैरान हो सकते हैं। इससे पहले बता दें कि यह मामला उस समय का है जब राहुल गांधी अपने परंपरागत सीट अमेठी से नामांकन दाखिल करने पहुंचे थे। नामांकन के बाद मीडिया से बात करते हुए राहुल ने पीएम मोदी पर कई वार किए थे।

जिस समय राहुल मीडिया से बात कर रहे थे, उनके चेहरे व सिर से निचे कनपटी पर एक 'ग्रीन लाइट' दिख रही थी। यह 'ग्रीन लाइट' ऐसी थी जैसे राहुल गांधी किसी स्नाइपर के निशाने पर थे। राहुल के चेहरे व सिर पर ये लाइट तीन मीनट के अंदर कम से कम सात बार दिखी। जिससे हैरान परेशान कांग्रेस पार्टी ने राहुल की सुरक्षा पर चिंता जाहिर करते हुए गृह मंत्रालय को पत्र लिखा।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार कांग्रेस पार्टी के पत्र व राहुल गांधी की सुरक्षा चूक को लेकर गृह मंत्रालय ने बताया कि राहुल के सिर पर दिख रही लाइट कैमरे की लाइट थी। मंत्रालय के अनुसार, एसपीजी निदेशक ने सूचना दी है कि वीडियो क्लिपिंग में दिख रही 'ग्रीन लाइट' कांग्रेस के एक फ़ोटोग्राफ़र के एक मोबाइल फ़ोन की है। बता दें कि राहुल गांधी की सुरक्षा एसपीजी के हवाले है।

वहीं मीडिया रिपोर्ट की माने तो राहुल के चेहरे पर दिख रही लाइट एक्शन का रिएक्शन था। बताया जाता है कि जब राहुल मीडिया से बात कर रहे थे तब मीडिया की माइक आईडी पर जब-कभी रोशनी पड़ रही थी। जब रोशनी माइक आईडी पड़ती तो उसके रिफ्लेक्शन लाइट राहुल के चेहरे पर दिखती थी।

मामले में सबसे बड़ी हैरानी की बात तो यह है कि, राहुल की सुरक्षा चूक मामले को लेकर कांग्रेस पार्टी द्वारा गृह मंत्रालय के नाम लिखा गया खत मीडिया में आ गई और सोशल मीडिया पर वायरल भी हो रही है, लेकिन कांग्रेस पार्टी ने ऐसे किसी पत्र की बात को सिरे से खारिज कर दिया। कांग्रेस की माने तो पार्टी की ओर से कोई पत्र नहीं लिखा गया। जबकि इस गृह मंत्रालय मे राहुल की सुरक्षा चूक मामले में पड़ताल के बाद रिपोर्ट भी जारी कर दी।

loading...