Breaking News
  • नमो एप के जरिए पीएम मोदी ने की सौभाग्य योजना के लाभार्थियों से बात
  • उत्तराखंड: टेहरी जिले में चम्बा-उत्तरकाशी मार्ग पर बस खाई में गिरी, 10 की मौत, तई घायल
  • आडवाणी के करीबी चंदन मित्रा ने बीजेपी से दिया इस्तीफा, टीएमसी में हो सकते हैं शामिल
  • ग्रे. नोएडा बिल्डिंग हादसे में अबतक 8 की मौत, अथॉरिटी प्रोजेक्ट मैनेजर समेत 3 सस्पेंड

मोदी के निमंत्रण पर भारत आ रहे हैं इस देश के राष्ट्रपति!

नई दिल्ली: गुरुवार को ईरानी राष्ट्रपति हसन रूहानी तीन दिवसीय दौरे पर भारत पहुँच रहे हैं। ईरानी राष्ट्रपति को देश के पीएम नरेन्द्र मोदी ने ख़ास निमंत्रण दिया था। जिसको स्वीकार करते हुए रूहानी भारत के दौरे पर पहुँच रहे हैं। यहाँ रूहानी और मोदी के बीच शनिवार को द्विपक्षीय वार्ता होगी।   

बतादें कि देश के पीएम नरेन्द्र मोदी के ख़ास बुलावे पर ईरानी राष्ट्रपति हसन रूहानी गुरुवार को भारत के दौरे पर आ रहे हैं। उनका यह तीन दिवसीय दौरा कई मायनों में अहम माना जा रहा है। बताया जा रहा है कि हसन रूहानी के 2013 में सत्ता संभालने के बाद यह पहला भारत का आधिकारिक दौरा है। गुरुवार को भारत पहुँचने के बाद शनिवार को देश के पीएम नरेन्द्र मोदी और ईरानी राष्ट्रपति हसन रूहानी की द्विपक्षीय वार्ता होगी।

देश का दूसरा माल्या- PNB से हजारों करोड़ लेकर फरार हुआ मोदी!

रूहानी देश के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से भी मुलाकात करेंगे। ख़बरों की माने तो राष्ट्रपति हसन रूहानी भारत आने के बाद पहले हैदराबाद जाएंगे, जहां उनकी मुलाकात कई बड़े उलेमाओं से मुलाकात होगी। ईरानी मीडिया के अनुसार राष्ट्रपति हशम रूहानी और देश के पीएम नरेन्द्र मोदी के बीच शनिवार को प्रतिनिधिमंडल स्तर की वार्ता होगी।

मधुबाला ने दिया था दिलीप साहब को बड़ा धोखा- मरने से पहले ही नरक बन गई थी जिंदगी!

इस वार्ता के बाद दोनों देशों के बीच कई समझौतों पर हस्ताक्षर किये जायेगे। राष्ट्रपति रूहानी का भारत दौरा इस लिहाज से भी अहम माना जा रहा है कि ईरान और भारत के बीच चाबहार बन्दगाह के पहले फेज का काम पूरा होकर इसे शुरू भी कर दिया गया है। इस परियोजना में भारत अरबों डॉलर का निवेश कर रहा है। जिससे मध्य एशियाई देशों से कनेक्टिविटी बढ़ाने के साथ साथ हिन्द महासागर में चीनी प्रभुत्व को कम किया जा सके।

यह भी देखें-

loading...