Breaking News
  • संसद का शीकालीन सत्र आज से शुरू, प्रधानमंत्री ने कहा चर्चा होनी चाहिए
  • 5 राज्यों मध्य प्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़, तेलंगाना और मिज़ोरम में मतगणना

इनसाइड स्टोरी: गुजरात में यूपी, बिहार वालों के साथ दिल दहला देने वाली घटना की सच्चाई!

नई दिल्ली: भाजपा शासित राज्य गुजरात के साबरकांठा जिले में एक बच्ची के साथ रेप की घटना के बाद गुजरातियों का गुस्सा सातवें आसमान पर है। अपनी जगह पर गुजरातियों का गुस्सा जायज है क्योंकि 14 महीने की बच्ची के साथ बलात्कार की खबर सुनने के बाद तो लोगों का सिर भी शर्म से झूक जाता है। लेकिन क्या किसी एक के अपराध के लिए पूरे प्रदेश को बदनाम करना किसी भी तरह से जायज माना जा सकता है?

लेकिन गुजरात में ऐसा हो रहा है, हालांकि रेप के आरोपी को गिरफ्तार कर जेल में डाल दिया गया है। लेकिन क्योंकि वह आरोपी बिहार का बताया जा रहा है इसलिए स्थानिय लोग बिहा, यूपी और एमपी के लोगों को वहां से बाहर करने पर तुले हैं। उनके साथ मारपीट किया जा रहा है और उन्हों जबरन वहां से निकने पर मजूबर किया जा रहा है। खबरों की माने तो राज्य से हजारों की संख्या में गैर-गुजराती लोग पलायन कर चुके हैं।

यूपी पुलिस को बड़ी सफलता- मथुरा से 16 घुसपैठिया गिरफ्तार, क्या है पूरी सच्चाई

लेकिन गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी का कहना है कि सब कुछ ठीक है, राज्या से लोग पलायन नहीं कर रहे है। लेकिन घटना का शिकार हुए कुछ लोगों ने जिस तरह से अपनी आपबीती बताई है वो बेहद भी मयावह लगता है। उन्हीं लोगो में से एक ने मीडिया को बताया कि, “मेरा बेटा खेल रहा था, इसी दौरान लोगों ने हमला कर दिया, अब वह सदमे में है”। लोगों ने बताया कि ‘मुझसे पूछा गया कि मैं कहां से हूं, वेकिन मैंने उनसे झूठ कहा कि कि मैं राजस्‍थान से हूं, इसके बाद मैंने राजस्थान के एक जिले के नाम बताए’।

नाना के बाद अब यौन शोषण के आरोप में फंसे पीएम मोदी के दिग्गज मंत्री

पीड़ित ने कहा कि, राजस्थान के जिले का नाम बताकर मुझे लगा की मैंने इस बात को साबित कर दिया है कि  मैं यूपी, बिहार या एमपी का नहीं हूं और मैं आगे बढ़ गया। हालांकि उन लोगों ने एक गाड़ी में आग के हवाले कर दिया। आपको बता दें कि राज्य में रह रहे यूपी, बिहार लोगों को हिंसे से पहले 24 घंटे का समय दिया गया था कि इस दौरान वे लोग राज्य छोड़कर चले जाए अन्यथा उन्हें अंजाम भुगतना होगा। ऐसे में जो लोग चले गए वो चले गए और जो बच गए वो हिंसा के चपेट में आ गए।

खुफिया रिपोर्ट से खुलास- इसलिए महंत को अनशन से उठा कर ले गई थी पुलिस!

हालांकि अब काफी हद तक हालात समान्य दिख रहे हैं, सरकार दावा कर रही है काफी देर से हिंसा की कोई घटना नहीं आई है। वहीं बिहार और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने भी गुजरात के मुख्यमंत्री से बात की है। गुजरात के सीएम से बात करने के बाद यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उत्तर प्रदेश के लोगों को गुजरात में डरने की जरूरत नहीं है, लोग स्थानिय प्रशासन पर भरोसा करें।

loading...