Breaking News
  • नहाय खाय के साथ प्रकृति और सूर्य की उपासना का पर्व छठ पूजा शुरू
  • लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे पर आज वायु सेना का पहला अभ्यास
  • चीन की कम्युनिस्ट पार्टी ने राष्ट्रपति XiJinping के अगले पांच सालों के कार्यकाल को सहमति दी
  • आज पूरा विश्व मना रहा है United Nations Day, प्रथम विश्वयुद्ध के बाद 1929 में हुआ था गठन

5 राज्यों का सीना चीरते हुए कामख्या जंक्शन पहुंचेगी यह ट्रेन, लेकिन पटना

नई दिल्ली: मध्यप्रदेश के इंदौर से कामाख्या तक जाने वाली इंदौर-गुवाहाटी एक्सप्रेस शुक्रवार को स्पेशल ट्रेन के तौर दौड़ती दिखी। बहुप्रतीक्षित इस ट्रेन का सफर का मजा सप्ताह के एक दिन लिया जा सकता है, क्योंकि यह ट्रेन साप्ताहिक है। प्राप्त जानकारी के अनुसार अगले गुरुवार से यह ट्रेन नियमित समयनुसार चलेगी।

रेलमंत्री सुरेश प्रभु गोवा से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हरी झंडी दिखा कर जिस ट्रेन को रवाना किया वह पहली ऐसी कोई ट्रेन है जो इंदौर से असम के लिए गई। इस ट्रेन की पहली सफर के लिए शुक्रवार को प्लेटफॉर्म नं. एक पर खास कार्यक्रम का आयोजन किया गया, लेकिन प्रभु ने गोवा से झंडी दिखार ट्रेन को रवाना किया।

जानिए अब किस हालत में हैं शक्तिमान के ये कलाकार

आपको बता दें कि प्लेटफॉर्म पर आयोजित समारोह में मुख्य अतिथि के तौर पर लोकसभा स्पीकर और सांसद सुमित्रा महाजन भी मौजूद रही और हरी झंडी दिखार ट्रेन को रवाना किया। इस खास अवसर पर यहां से रीवा-इंदौर एक्सप्रेस (11703/11704) का विस्तार और डॉ. आंबेडकर नगर (महू) खंड के विद्युतीकरण कार्य का लोकार्पण किए जाने की भी खबर है।

आपको बता दें कि इंदौर-गुवाहाटी एक्सप्रेस (19305) हर गुरुवार को दोपहर 2 बजे इंदौर से रवाना होगी और शनिवार दोपहर 2.25 बजे कामाख्या जंक्शन पहुंचेगी। यही ट्रेन गुवाहाटी-इंदौर एक्सप्रेस (19306) बन कर हर रविवार को कामाख्या जंक्शन से सुबह 5.15 बजे रवाना होगी और 7.10 बजे इंदौर पहुंचेगी।

अगर होना है कामयाब तो भगवान बुद्ध की इस बात को जरूर याद रखें....

इस सफर के दौरान यह ट्रेन इंदौर से खुलकर देवास,  उज्जैन, शुजालपुर, बैरागढ़, विदिशा, बीना, ललितपुर, झांसी, ओरई, कानपुर सेंट्रल से होते हुए लखनऊ, सुल्तानपुर, जोनपुर सिटी, वाराणसी, गाजीपुर सिटी, बालिया के रास्ते छपरा, सोनपुर, हाजीपुर, बेगुसराय, खगारिया, मोनसी, कटिहार, किशनगंज, बिन्नागुरी, हासीमारा, अलीपुरद्वार जंक्शन, कोकराझार होते हुए कामख्या जंक्शन पहुंचेगी, और फिर कुछ देर के आराम के बाद फिर से इसी रास्ते से लौटते हुए इंदौर पहुंचेगी।

ऐसा पौधा जो आपको जिवन भर स्वस्थ रखेगा- 20 से ज्यादा बीमारियों में रामबाण

मुंबई पुलिस का सब इंस्पेक्टर कैसे बना बॉलीवुड सुपरस्टार- मरने के बाद भी...

इस सभी जगहों से गुजरने के बाद इस ट्रेन के लिए एक और खास बात है कि यह बिहार की राजधानी और जाने माने पटना जंक्शन को नहीं जाएगी। 

प्रेगनेंसी के डर से नहीं करते हैं सेक्स- तो जाने बचने के 5 आसान उपाय

loading...